एक मुस्लिम शख्स ने हिंदू मंदिर, बनाने के लिए दान की करोड़ों की जमीन


नई दिल्ली (
मानवी मीडिया) भारत एक धर्म निरपेक्ष देश है, जहां हर धर्म के लोग मिलकर एक साथ रहते हैं. कई बार कुछ अलग-अलग धर्म के लोगों में विरोध और विवाद सामने आना आम बात है, लेकिन एक धार्मिक समुदाय के लोगों को दूसरे धर्म के लोगों की मदद  के लिए आगे आने के मामले उससे भी ज्यादा देखने में आते हैं. एकता की ऐसी ही मिसाल एक बार फिर सामने आई है, क्योंकि बिहार के मुस्लिम धर्म को मानने वाले इश्तियाक अहमद खान ने 'विराट रामायण मंदिर' के लिए अपनी जमीन दान कर दी है.

2.5 करोड़ की है जमीन

मुस्लिम व्यवसायी, इश्तियाक अहमद खान ने अपनी 2.5 करोड़ की कीमत वाली जमीन को 'विराट रामायण मंदिर' के लिए दान किया है. इस मंदिर का निर्माण जल्द ही बिहार के पूर्वी चंपारण जिले के केसरिया में शुरू होगा. उन्होंने यह जानकर मंदिर ट्रस्ट को कुछ जमीन दान करने का फैसला किया कि ट्रस्ट को प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए और जमीन की जरूरत है.

500 करोड़ रुपए में बनेगा मंदिर 

आपको बता दें कि बीते कई सालों से 'विराट रामायण मंदिर' प्रोजेक्ट पर खबरें सामने आ रही हैं. यह मंदिर दुनिया का सबसे बड़ा रामायण मंदिर होने की उम्मीद है. महावीर मंदिर ट्रस्ट द्वारा इस मंदिर को बनाने में 500 करोड़ रुपए के कुल बजट की लागत आने का अंदाजा है. यह मंदिर 125 एकड़ भूमि पर विकसित किया जा रहा है.


Previous Post Next Post