एटीएस ने कराया मुर्तजा का मेडिकल, गोरखपुर दफ्तर पर की पूछताछ


गोरखपुर
(मानवी मीडिया)  
एटीएस ने मंगलवार की दोपहर में अहमद मुर्तजा अब्बासी का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया। इससे पहले सोमवार की दोपहर से ही उससे कई राउंड पूछताछ हुई। सोमवार की रात में एटीएस उसे उसके घर लेकर गई थी। वहां करीब घंटे भर की जांच के बाद टीम लौट आई। सूत्रों के मुताबिक घर से भागने के दौरान वह जिन-जिन स्थानों पर गया था और जिनसे मिला था, उन सभी की एटीएस ने लिस्ट तैयार की है और

उसे उन स्थानों पर ले जा सकती है। फिलहाल मंगलवार को पूरे दिन टीम उसे लेकर कई जगहों पर घूमती रही और जानकारी जुटाती रही।

गोरखपुर गोरखनाथ मंदिर के दक्षिणी गेट पर सुरक्षा में तैनात पीएसी जवानों पर धारदार हथियार से हमला करने के आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी को घटना स्थल से ही पुलिस ने पकड़ लिया था। वह पांच अप्रैल से एटीएस के कब्जे में है। 11 अप्रैल को उसकी रिमांड खत्म हो रही थी लेकिन और पूछताछ की जरूरत बताते हुए एटीएस ने रिमांड बढ़ाने की मांग की थी। जिसके बाद कोर्ट ने पांच दिन की और रिमांड और दे दी है।

16 अप्रैल को दोपहर 12 बजे तक मुर्तजा अब्बासी एटीएस की रिमांड पर है। इस बीच उम्मीद थी कि रिमांड मिलने के बाद फिर एटीएस उसे लेकर लखनऊ मुख्यालय के लिए रवाना हो जाएगी। लेकिन अभी एटीएस मुर्तजा को लेकर गोरखपुर में ही है। लखनऊ में हुई पूछताछ के दौरान टीम ने एक लिस्ट तैयार की है, अब उसी आधार पर काम कर रही है जिसके तहत जरूरत पड़ने पर मुर्तजा को भी लेकर जा रही है। इसी क्रम में सोमवार की रात टीम उसे सिविल लाइंस 7 पार्क रोड स्थित उसके घर लेकर पहुंची थी। मंगलवार को एटीएस ने पूछताछ के बाद गोरखपुर जिला अस्तपाल में मुर्तजा का मेडिकल कराया। बताया जा रहा है कि एटीएस उसे यहां से लखनऊ ले जाते समय सिद्धार्थनगर भी जा सकती है, जहां से उसने बांका खरीदा था। 

अस्पताल से डिस्चार्ज हुए घायल जवान
उधर, इस हमले में घायल पीएसी जवानों को मंगलवार को बीआरडी मेडिकल कालेज से डिस्चार्ज कर दिया गया। तीन अप्रैल की देर शाम को हुए हमले में घायल दोनों पीएसी जवानों अनिल पासवान और गोपाल गौड़ को पहले गुरु गोरक्षनाथ चिकित्सालय ले जाया गया था। इसके बाद उन्हें बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था। अब उनका स्वास्थ्य बेहतर होने की वजह से डॉक्टरों ने उन्हें डिस्चार्ज कर दिया है।


Previous Post Next Post