जातिसूचक शब्दों से आहत 19 साल की युवती ने किया सुसाइड


चेन्नई (मानवी मीडिया)  तमिलनाडु के नागापट्टनम जिले में बुधवार को 19 साल की एक छात्रा ने आत्महत्या कर। फिजियोथेरिपी की पढ़ाई कर रही युवती के माता पिता का आरोप है कि कॉलेज प्रशासन ने उससे
जातिसूचक शब्द कहे जिसके आहत होकर उसने ये कदम उठाया। पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक फीस जमा ना करने को लेकर कॉलेज प्रशासन ने युवती से जातिसूचक शब्द कहे जिसके युवती इतनी आहत हुई कि उसने आत्महत्या कर ली।

इस घटना ने पूरे जिले में सनसनी मचा दी है। इस घटना से आक्रोशित युवती के घरवालों और उसके दोस्तों ने  नागापट्टिनम स्थित सरकारी अस्पताल के बाहर रोड़ जाम कर दिया। मृतक युवती के परिवार की मांग है कि जबतक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तबतक वो युवती की बॉडी नहीं लेंगे।

परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने कॉलेज के ग्रुप चेयरमैने समेत तीन लोगों को एससी/एसटी एक्ट 1989 के तहत गिरफ्तार कर लिया है।  गौरतलब है कि इसी तरह साल 2016 में हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले पीएचडी के छात्र रोहित वेमुला ने आत्महत्या कर ली थी। रोहित वेमुला ने 17 जनवरी 2016 को यूनिवर्सिटी हॉस्टल में अपने दोस्त के कमरे में पंखे से लटककर खुदकुशी कर ली थी। रोहित वेमुला की आत्महत्या लंबे समय तक देश में चर्चा का विषय बनी रही। 


Previous Post Next Post