बोर्ड ने लिया बड़ा फैसला, PVR और INOX हुआ मर्ज


नई दिल्ली (मानवी मीडियादेश की मल्टिप्लेक्स इंडस्ट्री में बड़ा बदलाव हो रहा है. देश की भारत की दो सबसे बड़ी मल्टिप्लेक्स पीवीआर सिनेमाज और आईनॉक्स लीजर मर्ज हो गया हैं. पीवीआर और आईनॉक्स  कंपनी के बोर्ड्स ने आज यानी रविवार 27 मार्च को मंजूरी मिल गई है.

पीवीआर सिनेमाज और आईनॉक्स लीजर हुए मर्ज 

दरअसल, पीवीआर लिमिटेड (ट्रांसफर कंपनी) ने ये जानकारी दी है कि उसके निदेशक मंडल ने कंपनी में और उसके साथ आईनॉक्स लीजर लिमिटेड (ट्रांसफर कंपनी) के मर्जर योजना को मंजूरी दे दी गई है. आईनॉक्स के बोर्ड ने भी इस विलय योजना को भी मंजूरी दे दी है. इसके बाद ये उम्मीद जताई जा रही है कि इस डील के बाद अब फिल्म एग्जिबिशन इंडस्ट्री में कुछ और भी अच्छा और नया देखने को मिलेगा. आपको बता दें कि इस मर्जर के बाद पीवीआर और आईनॉक्स लीजर संयुक्त रूप से पूरे भारत में 1,500 से अधिक स्क्रीनों के मालिक होंगे.

शेयर बाजार में क्या रहेगी स्थिति?

- पीवीआर और आईनॉक्स दोनों ही कंपनियां शेयर बाजार में लिस्टेड हैं.
- अब इस मर्जर के बाद शेयर का अनुपात- आईनॉक्स के 10 शेयरों के लिए पीवीआर के तीन शेयर होंगे.
- विलय के बाद, आईनॉक्स प्रमोटरों की संयुक्त यूनिट में 16.66 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी, जबकि पीवीआर प्रमोटरों की 10.62 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी.
- मर्जर के बाद आईनॉक्स के प्रमोटर्स पीवीआर के मौजूदा प्रमोटर्स के साथ विलय की गई यूनिट में को-प्रमोटर बन जाएंगे. 

16,000 करोड़ रुपये से अधिक मार्केट कैप

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इन दोनों कंपनी के मर्ज होने के बाद, शेयर बाजार में 16,000 करोड़ रुपये से अधिक मार्केट कैप वाली एक बड़ी कंपनी बनाएगी. अब शेयर की स्थिति प नजर डालें तो आईनॉक्स लीजर का शेयर शुक्रवार को 6% से अधिक बढ़कर 470 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुआ था जबकि पीवीआर का शेयर शुक्रवार को 1.55% की तेजी के साथ 1804 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुआ, जिसका मार्केट कैप 11,100 करोड़ रुपये से अधिक था.

सबसे बड़ी फिल्म प्रदर्शनी कंपनी होगी

इसके साथ ही इस विलय के बाद आम लोगों को कुछ नया देखने को मिल सकता है. आईनॉक्स वर्तमान में 72 शहरों में 675 स्क्रीन संचालित करता है, जबकि पीवीआर 73 शहरों में 181 प्राॅपर्टीज में 871 स्क्रीन ऑपरेट करता है. दोनों की संयुक्त इकाई भारत में 109 शहरों में 341 संपत्तियों में 1,546 स्क्रीन का संचालन करने वाली सबसे बड़ी फिल्म प्रदर्शनी कंपनी बन जाएगी. इससे दर्शकों को भी फायदे की उम्मीद है. 

Previous Post Next Post