सपा और उसके गठबंधन में शामिल दलों की विराट जनसभा

लखनऊ (मानवी मीडिया) वाराणसी में आज समाजवादी पार्टी और उसके साथ गठबंधन में शामिल दलों की विराट जनसभा में जनसैलाब उमड़ पड़ा। सभास्थल में लाखों की भीड़ के अलावा आसपास की सभी जगहों पर भारी भीड़ में हर तरफ लाल, पीली, नीली, टोपियां ही दिख रही थी। विभिन्न सहयोगी दलों के झंडो के साथ समाजवादी पार्टी का लाल हरा झंडा भी लहरा रहा था।

   समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव के छठे और सातवें चरण में पूर्वांचल भाजपा का पूरी तरह सफाया होने जा रहा है। जनता में जो जोश और उत्साह है यह बता रहा है कि अब वह भाजपा को माफ नहीं करेगी बल्कि साफ करेगी। गठबंधन की ऐतिहासिक बढ़त से भाजपा हिल गई है। पूर्वांचल में भाजपा इतने ज्यादा वोटों से हारेगी कि उसे इसकी कल्पना भी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि भाजपाई चुनाव परिणाम आने के बाद ढूंढ़े नहीं मिलेंगे। उन्हें करारा सबक सिखाते हुए वाराणसी की जनता भाजपा का रस ही निचोड़ देगी।

    अखिलेश यादव ने प्रारम्भ में काशी की धरती और मां गंगा को नमन करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दीदी के प्रति भी आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि भाजपा अपने को सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा करती है। इन चुनावों के बाद वह सबसे छोटी पार्टी बन जाएगी। भाजपा ने किसानों को धोखा दिया। किसानों को आय दुगनी करने का भरोसा दिलाया पर उनकी आय दुगनी नहीं हुई। नौजवान पांच साल नौकरी का इंतजार करते रहे। हवाई चप्पल पहनने वालों को भाजपा ने हवाई जहाज की यात्रा का सपना दिखाया। लेकिन भाजपा सरकार ने हवाई जहाज बेच दिए। एयरपोर्ट बेच दिए, पानी के जहाज के साथ बंदरगाह बेच दिए। जब सब बेच देंगे तो नौकरी कहां मिलेगी? संविधान में आरक्षण का जो अधिकार मिला वह भी नहीं मिलेगा। भाजपा झूठ वाली पार्टी है।

यादव ने कहा कि जब चार सौ रुपये का गैस सिलेण्डर था तब भाजपा ने फ्री कनेक्शन बांटे गए अब सिलेण्डर हजार रुपये का कर दिया है। किसानों को खाद नहीं मिली। किसानों की यूरिया खाद की बोरी से से 5 किलो खाद चोरी हो गई। डीएपी भी नहीं मिली। उन्होंने कहा कि भाजपा राज में किसानों को कार से कुचल कर मार दिया गया। भाजपा सरकार तीन काले कृषि कानून लायी जिसको वापस कराने में लगभग 700 सौ से अधिक किसान शहीद हो गए। लखीमपुर में एक पत्रकार भी मारा गया। कोरोना संक्रमण काल में भाजपा की डबल इंजन सरकार ने लॉकडाउन के दौरान जनता को अनाथ छोड़ दिया था। श्रमिकों को पैदल चलने पर मजबूर किया गया। उनकी रास्ते में दर्दनाक मौतें हुई। भाजपा की डबल इंजन सरकार ने उनकी कोई मदद नहीं की। समाजवादियों ने ही उन श्रमिकों की मदद की। गंगा में लाशें बहती दिखी।

     यादव ने कहा प्रदेश की जनता को बहुत दर्द मिला है। भाजपा सरकार में फिर से डीजल-पेट्रोल, रसोईगैस के दाम बढ़ जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने जो गांव गोद लिया था वहां की प्रधान चुनाव हार गई। उन्होंने कहा एक-एक वोट कीमती है। मतदाता भाजपा की चालों से सावधान रहे।

     यादव ने भरोसा दिलाया कि समाजवादी सरकार बनने पर 11 लाख खाली पड़े पदों पर भर्ती करेंगे। शिक्षामित्रों, अनुदेशकों, बीपीएड, बीएड, टेट, आंगनवाड़ी सबको न्याय मिलेगा। पुलिस फौज में भर्ती खोलेंगे। किसानों को मुफ्त सिंचाई की सुविधा होगी। 300 यूनिट घरेलू बिजली मुफ्त होगी। उन्होंने कहा कि पश्चिम से चुनाव की शुरुआत से रालोद ने भाजपा का खात्मा किया। मतदाताओं का समाजवादी गठबंधन को प्रबल समर्थन मिला। अब भाजपा जिस दरवाजे से आई वह दरवाजा बंद हो गया है। उन्होंने गठबंधन के सभी प्रत्याशियों को जिताने की अपील की।

    पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री  ममता बनर्जी जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में गुंडाराज माफिया राज को हटाना है। ‘योगी‘ नाम का योगी है काम का भोगी। अखिलेश यादव मुख्यमंत्री बनेंगे तो उत्तर प्रदेश का विकास होगा। उत्तर प्रदेश और बंगाल मिलकर काम करेंगे। माताओं बहनों से अखिलेश यादव को वोट देने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी गठबंधन की सरकार आएगी तो 5 साल तक फ्री राशन मिलेगा।

    हमारे देश की बच्चे विदेश में फंसे हैं और मोदी कह रहे हैं कि अपने अपने साधन से आओ। भाजपा झूठी पार्टी है और जुमला पार्टी है। उन्होंने कहा कि आज पूरा देश भाजपा के खिलाफ है। नौजवान भाजपा के खिलाफ है। ममता बनर्जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार आ रही हैं। देश से अब भाजपा सरकार को हटा देंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा पर कोई विश्वास नहीं कर सकता है। भाजपा झूठ बोलती है। भाजपा ने सब कुछ सत्यानाश कर दिया है। उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार सभी वर्गों के लिए काम करेगी।

    ममता बनर्जी ने कहा कि किसानों ने तीन कानूनों के खिलाफ आंदोलन किया। लखीमपुर खीरी में गृह राज्य मंत्री के बेटे ने किसानों को कुचल कर मार दिया। उसके खिलाफ क्या कार्रवाई हुई। जब कोरोना कॉल में मजदूर पैदल चलते चलते रास्ते में मर गए तब भाजपा सरकार कहां थी? उन्होंने कहा आज हमारे देश के छात्र नौजवान यूक्रेन में संकट में है। प्रधानमंत्री यहां चुनावी जनसभा कर रहे हैं। जब तीन महीने पहले से पता था कि युद्ध होने वाला है तो छात्रों को वहां से क्यों नहीं निकाला गया है। छात्र भूखे प्यासे बंकर में सो रहे है।

      ममता बनर्जी ने कहा कि हम सभी धर्म का सम्मान करते हैं। भाजपा के लोग झूठे हैं। कहते थे अच्छे दिन लाएंगे। अच्छे दिन के नाम पर नोटबंदी कर दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने बहुत पाप किया है। मंदिर-मस्जिद के नाम पर लड़ाते हैं। सच्चा हिन्दुस्तानी वही जो सबको प्यार करता है। ममता  ने महिलाओं से विशेष कर अपील की कि वे भाजपा के खिलाफ और समाजवादी गठबंधन के समर्थन में एकजुट होकर मतदान करें।

     समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव प्रो0 रामगोपाल यादव, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष  किरनमय नंदा, प्रसपा के अध्यक्ष  शिवपाल सिंह यादव, रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष  जयंत चौधरी, सांसद जया बच्चन, प्रदेश अध्यक्ष  नरेश उत्तम पटेल, राष्ट्रीय महासचिव  इन्द्रजीत सरोज, सुभासपा के अध्यक्ष  ओम प्रकाश राजभर, महान दल के अध्यक्ष श्री केशव देव मौर्य, जनवादी पार्टी के अध्यक्ष  संजय सिंह चौहान, अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष श्रीमती कृष्णा पटेल ने भी जनसभा को सम्बोधित किया।

     जनसभा में  ममता बनर्जी ने जयनाद के साथ जनसमूह के बीच फुटबॉल फेंक कर अब ‘खेला होबे‘ का जयघोष किया।

Previous Post Next Post