बोर्ड परीक्षा में प्रथम बार साफ्टवेयर के माध्यम से परीक्षा केन्द्रों पर केन्द्र व्यवस्थापक


लखनऊ (मानवी मीडिया)उ0प्र0 माध्यमिक शिक्षा परिषद, प्रयागराज द्वारा आयोजित  हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट की बोर्ड परीक्षायें 24 अप्रैल,2022 से प्रारम्भ हो रही हैं । बोर्ड परीक्षाओं को नकल विहीन तथा शुचिता पूर्वक सम्पन्न कराना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में है। बोर्ड परीक्षाओं में प्रथम बार साफ्टवेयर के माध्यम से केन्द्र व्यवस्थापक, वाह्य केन्द्र व्यवस्थापक, कक्ष निरीक्षक तथा अन्य कार्मिकों की ड्यूटी लगायी गयी है ।

अपर मुख्य सचिव, माध्यमिक शिक्षा,  आराधना शुक्ला ने बताया कि पोर्टल में जनपद के राजकीय , अशासकीय सहायता प्राप्त तथा वित्त विहीन शिक्षकोे का डाटा फीड किया गया है । इसी प्रकार बेसिकशिक्षा परिषद के अध्यापकों का भी विवरण  साफ्ट वेयर में अंकित किया गया है । वरिष्ठता के अनुसार  माध्यमिक विद्यालयों के अध्यापकों की ड्यूटी केन्द्र व्यवस्थापक तथा वाह्य केन्द्र व्यवस्थापक के रूप में लगाई गयी है। इसी प्रकार, प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर 50 प्रतिशत अध्यापकों की ड्यूटी वाह्य कक्ष निरीक्षकों के रूप में लगाई गई है, विशेष ध्यान रख कर अध्यापकों की ड्यूटी निकट परीक्षा केन्द्र पर ही लगाई गई है। प्रत्येक 05 परीक्षा दिवसों के पश्चात्, साफ्टवेयर के माध्यम से पुनः कक्ष निरीक्षकों की ड्यिूटी में परिवर्तन किया जायेगा । केन्द्र व्यवस्थापक,  परीक्षा कार्य में जुडे हुए अपने केन्द्र के 50 प्रतिशत अध्यापकों को परीक्षा कार्य हेतु अपने विद्यालय में रख सकेंगे।

 शुक्ला ने यह भी बताया कि उक्त पोर्टल के माध्यम से अध्यापकों की उपस्थिति भी दर्ज होगी । परीक्षा की समाप्ति पर उन्होंने कितने दिन परीक्षा कार्य किया है, उसकी सूचना पोर्टल पर उपलब्ध रहेगी । पोर्टल में किये गये कार्य दिवस के आधार पर ही उनके पारिश्रमिक का विल स्वतः निर्मित हो जायेगा जिसका  शीघ्र  भुगतान  कर दिया जायेगा।

 शुक्ला ने विश्वास व्यक्त किया कि बोर्ड परीक्षा के इस पोर्टल के संचालित हो जाने से परीक्षा कार्य में लगे अध्यापकों को उत्पन्न होने वाली कठिनाइयों का सुगमता से निराकरण हो जायेगा तथा उन्हें परीक्षा कार्य के पारिश्रमिक के लिए कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पडेंगे तथा उनके बोर्ड पारिश्रमिक का भुगतान शीघ्र हो जायेगा।

Previous Post Next Post