तीन तलाक की लड़ाई लड़ने वाली निदा खान, भाजपा नेत्री ने पति पर लगाए कई गंभीर आरोप


बरेली  (
मानवी मीडिया
भाजपा में शामिल हुई दरगाह आला हजरत परिवार की बहू निदा खान ने अपने पति और कई ससुराल वालों के खिलाफ एक और रिपोर्ट दर्ज कराई है। इसमें निदा ने ससुराल वालों पर भाजपा में शामिल होने पर तौबा न करने पर उनके मामा की बेटी की शादी में शामिल न होने देने और अपने मुरीदों से उन्हें मरवा देने की धमकी देने का आरोप लगाया है।

शाहदाना इलाके में रहने वाली निदा खान ने एसएसपी को तहरीर दी थी जिस पर थाना बारादरी में रिपोर्ट दर्ज की गई है। निदा का आरोप है कि 26 मार्च को उनके मामा बब्बू की बेटी शादी थी जिसमें उन्हें और उनके परिवार वालों को भी बुलाया गया था। 

वह शादी में पहुंचीं तो उनके मामा ने उन्हें बताया कि उनके पति शीरान रजा, उसके चाचा व नबीरे आला हजरत तस्लीम रजा खां, अरसलान, जरताब और बुरहान ने उनसे कहा है कि निदा जब भाजपा में शामिल होने के अपने फैसले पर तौबा करेगी तभी उसे शादी में शामिल होने दिया जाएगा वर्ना मुरीदों से कहकर उसे मरवा दिया जाएगा।

निदा ने कहा है कि इसके बाद उन्होंने सूचना देकर पुलिस को बुलाया, तब कहीं मामला शांत हुआ। बुधवार रात बारादरी पुलिस ने नामजद आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली। निदा की ओर से पुलिस को दी गई पहली तहरीर में सनसनीखेज आरोप लगाए गए थे।

दूसरी तहरीर पर दर्ज हुई रिपोर्ट, पहली में लगाया था जानलेवा हमले का आरोप

इसमें निदा ने कहा था कि चुनाव में भाजपा के प्रचार के दौरान उन्होंने अपना एक वीडियो फेसबुक पर डाला था जिसे उनके पति शीरान, उसके चाचा तस्लीम मियां, अर्सलान, तस्लीम मियां के साले जरताब और बुरहान ने एडिट कर धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाला बनाकर वायरल कर दिया। 

इसके बाद वह अपने मामा की बेटी की शादी में पहुंचीं तो भीड़ ने उन्हें घेर लिया और गालीगलौज करते हुए तौबा न करने पर जान से मारने की धमकी दी। उन पर धारदार हथियार से हमला किया जिससे उनके हाथो पर चोटें आईं। बारादरी पुलिस के पहुंचने पर उनकी जान बची। 

उन्हें धमकी दी गई कि अगर तौबा नहीं की तो दो दिन दावत में आने पर उन्हें जान से मार दिया जाएगा। इस कारण वह दावत में नहीं गई। उनका पूरा परिवार खौफजदा है। निदा ने पहली तहरीर में आरोप लगाया कि पहले भी दरगाह से जुड़े मियां उन पर हमला करा चुके हैं। उनका कट्टर मौलानाओं का संगठित गिरोह है।

शादी में काफिर कहकर शोर मचाया

निदा ने पहली तहरीर में यह भी आरोप लगाया कि जब वह शादी में शामिल होने पहुंची थी तो पति शीरान, तस्लीम मियां, अर्सुलाम, जरताब और बुरहान के साथ उनके मुरीदों ने उन्हें और उनके परिवार को काफिर कहकर शोर मचाना शुरू कर दिया। इससे उन्होंने काफी प्रताड़ित महसूस किया।

निदा ने कहा कि पति और ससुराल वालों के खिलाफ उनकी ओर से दहेज उत्पीड़न, भ्रूण हत्या और पढ़ाई से रोकने के केस अदालत में चल रहे है। इसके बाद पति और ससुराल वाले उनके खिलाफ इस्लाम से खारिज करने, कब्रिस्तान में जगह न देने और बीमारी में इलाज न करने का फतवा दे चुके हैं।
Previous Post Next Post