जब बड़े-बड़े इंजीनियर हुए फेल, तब एक मुस्लिम ने पशुपतिनाथ मंदिर में लटकाया 3700 किलो का घंटा


मंदसौर (मानवी मीडियामध्य प्रदेश के मंदसौर  में सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल देखने को मिली है. दरअसल यहां एक मुस्लिम मिस्त्री नाहरू खान ने पशुपतिनाथ मंदिर  के परिसर में 3,700 किलो का महाघंटा स्थापित कर दिया है. ये महाघंटा लंबे समय से मंदिर परिसर में ही रखा था लेकिन हादसे की आशंका के चलते इसे लटकाया नहीं गया था. कई इंजीनियर आए लेकिन वो महाघंटा लगाने की हिम्मत नहीं जुटा पाए. उन्हें हादसे का डर था.

महाघंटा लगाने का नहीं लिया एक भी पैसा

बता दें कि 3,700 किलो के इस महाघंटे को काफी समय पहले मंदिर परिसर में लगाने के लिए लाया गया था लेकिन इसे लगाया नहीं जा सका था. अब नाहरू खान ने बिना कोई पैसा लिए पशुपतिनाथ मंदिर में ये महाघंटा स्थापित कर दिया है. रविवार शाम को महाघंटे का ट्रायल भी किया गया.

विधायक ने की नाहरू खान की तारीफ

मंदसौर के विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने कहा कि नाहरू भाई की श्रद्धा है कि वो सामाजिक और धर्म-कर्म के काम में लगे रहते हैं. मैंने और डीएम साहब ने आग्रह किया था, जिसके बाद नाहरू खान ने मंदिर परिसर में पेडेस्टल बनाकर महाघंटे को लगा दिया.

महाघंटा लगाने में लगा इतना समय

मंदसौर के डीएम गौतम सिंह ने कहा कि महाघंटा स्थापित करना बड़ी चुनौती थी. नाहरू खान ने 15 दिन का समय लिया और महाघंटा सुरक्षित तरीके से स्थापित कर दिया.

कितना लंबा-चौड़ा है महाघंटा?

जान लें कि महाघंटा करीब 6 फीट लंबा है. इसका व्यास 66.50 इंच है. महाघंटा बजाने के लिए 200 किलो से ज्यादा का दोलन भी तैयार किया गया है. इसको बच्चे भी आसानी से बजा सकते हैं क्योंकि इसमें बैरिंग लगाया गया है.

Previous Post Next Post