डा0 नवनीत सहगल की अध्यक्षता में उ0प्र0 लघु उद्योग निगम की 254 वीं बैठक


लखनऊ: (मानवी मीडिया) अपर मुख्य सचिव, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम डा0 नवनीत सहगल ने उ0प्र0 लघु उद्योग निगम की 254 वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि निगम ने अपनी स्थापना से लेकर इस वित्तीय वर्ष 2021-22 में सबसे अधिक व्यवसाय किया है। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि निगम ने पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष लगभग दो गुना व्यवसाय किया। पिछले वर्ष निगम ने 186 करोड़ रुपये का कार्य किया था, जो इस वर्ष बढ़कर 309 करोड़ रुपये हो गया है। उन्होंने अधिकारियों को निगम के व्यवसाय को और अधिक बढ़ाने तथा खर्चों पर नियंत्रण रखने के निर्देश भी दिये।

     अपर मुख्य सचिव ने कहा कि विपणन सहायता योजना के अंतर्गत वर्ष 2021-22 में अनुपातिक लक्ष्य 13,750 लाख रुपये के सापेक्ष माह फरवरी, 2022 तक 19059 लाख रू0 की उपलब्धि रही है, जो लक्ष्य का 138 प्रतिशत है। इसी प्रकार निर्माण योजना के अन्तर्गत निगम द्वारा मौजूदा वित्तीय वर्ष में निर्धारित 6416.67 लाख रू0 के सापेक्ष 172 प्रतिशत से अधिक लक्ष्य हासिल करते हुए 11068 लाख रू0 का व्यवसाय किया गया। इसके अतिरिक्त लौह/अलौह स्क्रैप योजना के अन्तर्गत चालू वित्तीय वर्ष में निर्धारित 870 लाख रू0 के लक्ष्य के सापेक्ष फरवरी माह में 800 लाख रू0 का व्यवसाय निगम ने किया है।

     बैठक में लघु उद्योग इकाइयों के प्रयोगार्थ कोयले के आवंटन हेतु नये एलाटमेंट की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए गए। जनपद अलीगढ़ में पीपीपी माडल पर 12 करोड़ की लागत से 12.5 एक क्षेत्रफल में हार्डवेयर पार्क विकसित करने के प्रस्ताव पर स्वीकृति प्रदान की गई। इसके अतिरिक्त प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर पब्लिक चार्जिंग स्टेशन की स्थापना हेतु उ0प्र0 लघु उद्योग निगम को राज्य सरकार की इम्प्लीमेंट एजेंसी नामित किये जाने सबंधी कार्यवाही आगे बढ़ाने पर स्वीकृति प्रदान की गई।

     लोक भवन स्थित सभागार में आयोजित निदेशक मण्डल की बैठक में उपाध्यक्ष राकेश गर्ग, प्रबंध निदेशक  राम यज्ञ मिश्र तथा प्रतिनिधि के रूप में सहायक लेखाधिकारी  विमल प्रकाश एवं उपनिदेशक  धीरज कुशवाहा सहित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Previous Post Next Post