भारतीय पूर्व ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह भी कोरोना की चपेट में


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): भारत के पूर्व ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने शुक्रवार को बताया कि उनका कोविड-19 का परीक्षण पॉजिटिव आया है और वह घर पर ही पृथकवास पर हैं। पिछले महीने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा करने वाले 41 वर्षीय हरभजन में हल्के लक्षण हैं।

हरभजन ने ट्वीट किया, 'कोविड के लिये मेरा परीक्षण पॉजिटिव आया है और मुझे हल्के लक्षण हैं। मैं घर पर ही पृथकवास पर हूं और हर तरह की जरूरी सावधानी बरत रहा हूं। मैं मेरे संपर्क में आने वाले लोगों से जल्द से जल्द अपना परीक्षण करवाने का अनुरोध करता हूं। कृपया सुरक्षित रहें और अपना ध्यान रखें।' हरभजन को मस्कट में चल रहे लीजेंड्स लीग क्रिकेट टूर्नामेंट के दूसरे चरण में भाग लेना था लेकिन अब वह इसमें हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

पिछले साल दिसंबर में, हरभजन ने घोषणा की थी कि वह क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहे हैं, जिससे उनके 23 साल के लंबे करियर पर से पर्दा उठ गया है।

ऑफ स्पिनर पहली बार 1998 में भारत के लिए खेले थे और सभी प्रारूपों में उनका करियर शानदार रहा है। वह ODI और T20I दोनों में विश्व कप विजेता हैं और टेस्ट क्रिकेट में 400 से अधिक विकेट लेने वाले केवल चार भारतीय गेंदबाजों में से हैं। वह भारत के लिए टेस्ट में हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय भी थे।

हरभजन ने मार्च 1998 में बेंगलुरु में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 17 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया। उन्होंने 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट लिए और टेस्ट क्रिकेट में भारत के चौथे सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बने रहे। हरभजन ने 236 एकदिवसीय मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया, जिसमें उन्होंने 269 विकेट लिए। उन्होंने भारत के लिए 28 T20I में 25 विकेट भी लिए।

हरभजन उन कुछ चुनिंदा भारतीय क्रिकेटरों में से हैं जिन्होंने दो आईसीसी विश्व कप फाइनल खेले हैं, वे 2003 में ऑस्ट्रेलिया से हार गए और 2011 में श्रीलंका के खिलाफ जीत हासिल की।

Previous Post Next Post