13 साल की गौरी को पीएम मोदी ने किया सम्मानित, जानिए स्मृति ईरानी ने क्या कहा

जयपुर (मानवी मीडिया): अजमेर निवासी गौरी माहेश्वरी को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। अजमेर में जन्मी गौरी यंगेस्ट कैलीग्राफी टीचर है। 13 साल की गौरी कैलीग्राफी की 150 से अधिक डिजाइन जानती हैं। वह 1500 से ज्यादा लोगों को कैलीग्राफी की ट्रेनिंग दे चुकी हैं। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo App पर लिखा कि दुनिया की सबसे कम उम्र की कैलिग्राफर्स में से एक राजस्थान की 13 वर्षीय गौरी ने 100 से अधिक कैलीग्राफी शैलियों में महारत हासिल की है। वह सभी आयु वर्ग के छात्रों को कैलीग्राफी की ट्यूशन भी देती हैं और राष्ट्र के लिए गौरव हासिल करने की इच्छा रखती हैं।

सोमवार को अजमेर कलेक्ट्रेट स्थित NIC केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कान्फ्रेंसिंग हुई। इसमें अजमेर की 13 वर्षीय गौरी माहेश्वरी को एक लाख रुपये और प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। वीडियो कॉन्फ्रेंस के बाद गौरी माहेश्वरी ने कहा कि वह इसका श्रेय अपने परिवार और अध्यापक को देती हैं। गौरी माहेश्वरी ने बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रधानमंत्री ने सभी को आत्मनिर्भर होने के लिए इंस्पायर किया।

क्या होती है कैलीग्राफी

कैलीग्राफी हाथ से बेहद सुंदर ढंग से लिखने की कला है, जो शादी के कार्ड, हाथ की बनी प्रेजेंटेशन, मेमोरियल डाक्यूमेंट्स, सर्टिफिकेट, निमंत्रण-पत्र, बिजनेस कार्ड, पोस्टर, ग्रीटिंग कार्ड, बुक कवर, लोगो, लीगल डॉक्यूमेंट बनाने, सिरेमिक और मार्बल पर शब्दों को उकेरने सहित अन्य काम आती है।

Previous Post Next Post