प्रदेश की जनता को दीपावली में मुख्यमंत्री योगी ने दिया क्या

 मुख्यमंत्री ने गोरखपुर के वनटांगिया ग्राम जंगल तिकोनिया नम्बर-3 के विकास हेतु 08 परियोजनाओं का शिलान्यास/लोकार्पण किया

मुख्यमंत्री ने अमृत महोत्सव के अन्तर्गत 75 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके जनपद गोरखपुर एवं महराजगंज के वरिष्ठ नागरिकों को सम्मानित किया

गरीब के साथ खुशी बांटने से खुशी कई गुना बढ़ जाती हैरू मुख्यमंत्री

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना जो मई से लेकर नवम्बर, 2021 तक थी, उसे बढ़ाकर होली 2022 तक किया गया

पात्र गृहस्थी परिवार में 07 लोग है तो उस परिवार को 35 किलो खाद्यान्न मिलेगा

राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार के साथ मिलकर पेट्रोल और डीजल के मूल्य को 12-12 रु0 प्रति लीटर कम किया है, इससे महंगाई पर अंकुश लगेगा

वन टागिंया गांव में आजादी के 70 वर्षों तक कोई बुनियादी सुविधा नहीं मिली थी

वर्ष 2017 के बाद से वर्तमान प्रदेश सरकार ने वनटागियां गांव को राजस्व गांव का दर्जा दिलाकर सभी मूलभूत सुविधाओं से आच्छादित कर नई व्यवस्था के साथ जोड़ा

रामराज की अवधारणा वनटांगिया गांव में साकार हुई

वनटांगिया समाज पर वनों की सुरक्षा का दायित्व

जंगलों की सुरक्षा से जो समृद्धि आयेगी उसका लाभ भी वनटांगिया समाज को मिलेगा

आप सब अपने बच्चों को खूब शिक्षित करें

राज्य सरकार द्वारा स्नातक तक बालिकाओं को मुफ्त शिक्षा दी जा रही

स्नातक या परास्नातक की पढ़ाई करने वाले युवाओं को प्रदेश सरकार टेबलेट/स्मार्ट फोन उपलब्ध करायेगी, जिससे कोरोना जैसे काल में ऑनलाइन पढ़ाई करने में आसानी होगी

लखनऊ:( मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीपावली के अवसर पर जनपद गोरखपुर के  वनटांगिया ग्राम जंगल तिकोनिया नम्बर-3 के विकास हेतु कुल 08 परियोजनाओं का शिलान्यास/लोकार्पण किया। इसके अतिरिक्त, उन्होंने विभिन्न योजनाओं जैसे आयुष्मान भारत योजना, प्रधानमंत्री कृषि सम्मान योजना, पोषाहार योजना, शिक्षा के उन्नयन हेतु स्कूली छात्र/छात्राओं को उपहार, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना, कृषकांे के उत्थान हेतु बीज वितरण, स्वच्छ भारत मिशन, अन्त्योदय योजना, पेंशन आदि के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किये तथा अमृत महोत्सव के अन्तर्गत 75 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके जनपद गोरखपुर एवं महराजगंज के वरिष्ठ नागरिकों को सम्मानित किया। इसके अतिरिक्त, कार्यक्रम स्थल पर लगाई गये स्टॉल/प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने गांव का भ्रमण कर ग्रामीणों से संवाद एवं हिन्दू विद्या पीठ में पढ़ने वाले बच्चों से भेंट कर उनका उत्साहवर्धन किया तथा मिठाई एवं उपहार वितरित किये।
मुख्यमंत्री  ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सभी को दीपावली की बधाई दी। उन्होंने कहा कि दीपक प्रकाश का प्रतीक होने के साथ साथ ज्ञान एवं सुख-समृद्धि का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि गरीब के साथ खुशी बांटने से खुशी कई गुना बढ़ जाती है। प्रदेश सरकार की यही कामना है कि सुख-समृद्धि व खुशहाली प्रत्येक प्रदेशवासी के जीवन में हो। कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है, इस महामारी को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना जो मई से लेकर नवम्बर, 2021 तक थी, उसे बढ़ाकर होली 2022 तक किया गया है। इस योजना के तहत प्रदेश के 15 करोड़ जरूरतमन्द लाभान्वित होंगे। इसके अलावा, अन्त्योदय कार्डधारकों को मिलने वाले खाद्यान्न के तहत चावल, गेहूं ही नहीं, बल्कि 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल, 01 किलो नमक और 01 किलो चीनी निःशुल्क दी जाएगी। साथ ही, पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को मिलने वाले खाद्यान्न में 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल और 01 किलो नमक भी निःशुल्क दिया जाएगा। पात्र गृहस्थी राशन कार्डधारक को प्रति यूनिट 05 किलो खाद्यान्न मिलेगा यदि किसी पात्र गृहस्थी परिवार में 07 लोग है तो उस परिवार को 35 किलो खाद्यान्न मिलेगा।
मुख्यमंत्री  ने प्रधानमंत्री  के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री  द्वारा कोरोना से बचाव हेतु सुरक्षा कवच के रूप में सभी को निःशुल्क वैक्सीन उपलब्ध करायी गयी है। साथ ही, केन्द्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल की एक्साइज ड्यूटी में कमी करते हुए पेट्रोल पर 05 रुपये और डीजल पर 10 रुपये घटाया गया है। अब राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार के साथ मिलकरके इसे पेट्रोल और डीजल में 12-12 रुपये प्रति लीटर के छूट की घोषणा की है। इससे सामान्य उपभोक्ता लाभान्वित होगा तथा बढ़ रही महंगाई पर अंकुश लगेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री  के नेतृत्व में कोरोना काल में देश ने सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उत्तर प्रदेश में कोरोना के नियंत्रण में सरकार के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों, शासन, स्वास्थ्यकर्मी तथा स्वयंसेवी संगठनों का बहुत बड़ा योगदान है।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि हम सब जानते है कि वन टागिंया गांव में आजादी के 70 वर्षों तक कोई बुनियादी सुविधा नहीं मिली थी, लेकिन वर्ष 2017 के बाद से वर्तमान प्रदेश सरकार ने वनटागियां गांव को राजस्व गांव का दर्जा दिलाकर सभी मूलभूत सुविधाओं से आच्छादित कर नई व्यवस्था के साथ जोड़ा गया। उन्होंने बताया कि वनटांगिया ग्राम में 874 लाभार्थियों को आयुष्मान भारत कार्ड, 132 परिवारों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, 14 बालिकाओं  को मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना से लाभान्वित किया गया। 833 लाभार्थियों को मुख्यमंत्री आवास योजना में आवास, 43 समूहों में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत कार्य, 916 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण, वनटांगिया क्षेत्र में उज्ज्वला योजना के अन्तर्गत 758 परिवारों को निःशुल्क  रसोई कनेक्शन, 154 को वृद्धावस्था पेंशन, 71 को निराश्रित महिला पेंशन, 33 को दिव्यांग पेंशन, पोषाहार मिशन के अन्तर्गत 03 से 06 वर्ष के 195 बच्चों, 34 गर्भवती महिलाओं तथा 06 माह से 03 वर्ष तक के 232 बच्चों को जोड़ा गया गया है।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि इससे पहले यहां के लिए योजनाएं सपना होती थी, ग्रामवासी मूलभूत सुविधाओं से वंचित थे, लेकिन आज यहां पानी, बिजली, आवास, स्कूल, सड़क आदि की सुविधाएं मिल रही हैं, यही रामराज है। रामराज की अवधारणा वनटांगिया गांव में साकार हुई है। उन्होेंने यह भी कहा कि आप सबको जंगल की सुरक्षा करना आवश्यक है। जंगल की क्षति न हो और न किसी को करने देना है। जंगलों की सुरक्षा से आपकी पहचान बनेगी। इन जंगलों के माध्यम से जो समृद्धि आयेगी उसका लाभ भी आप सभी को मिलेगा। उन्होंने कहा कि आप सब अपने बच्चों को खूब शिक्षित करे। सरकार की योजना का लाभ लेने की आवश्यकता है। राज्य सरकार द्वारा स्नातक तक बालिकाओं को मुफ्त शिक्षा दी जा रही है। हर युवा जो स्नातक या परास्नातक की पढ़ाई कर रहा है, उन सभी को प्रदेश सरकार टेबलेट/स्मार्ट फोन उपलब्ध करायेगी, जिससे कोरोना जैसे काल में ऑनलाइन पढ़ाई करने में आसानी होगी।

इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक