बढ़ती महंगाई से निम्न व मध्यमवर्गीय परिवारों के समक्ष संकट


लखनऊ (मानवी मीडिया)खाद्य पदार्थो,दलहन व तिलहन की बढ़ती कीमतों के लिये भाजपा की केंद्र व राज्य सरकारें जिम्मेदार है,सरकार की अधिक कर वसूली नीति से बढ़ती महंगाई ने आम जनमानस की कमर तोड़ कर रख दी है।उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता जावेद अहमद ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रूड ऑयल के दाम वर्ष 2014 की तुलना में आज लगभग 42 डॉलर प्रति बैरल कम होने के बाद भी दामों को नियंत्रित करने में विफल सरकार की गलतियों का खामियाजा आम उपभोक्ता को उठाना पड़ रहा है। मालभाड़ा में निरन्तर बढोत्तरी से खाद्य वस्तुओं के दाम के साथ तेल की कीमत आसमान छू रही है, सरकार राहत देने के स्थान पर आंख बंद किये बैठी है।

   प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था जोखिम में है,सरकार के संरक्षण में जिस तरह सब कुछ बाजार के नियंत्रण में देने और जनता से अधिक कर वसूलने की रणनीति पर काम हो रहा है, वह एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में जनकल्याणकरी व्यवस्था नही है,यही कारण है कि घर की व्यवस्थाओं और भोजन के संकट की मार से निम्न व मध्यम वर्ग कराह रहा है। सरकार द्वारा मुद्रास्फीति पर किया जा रहा दावा पूरी तरह मिथ्या आंकड़ों की भरमार और जमीनी सच्चाई से दूर है। सब्जियां,दलहन,तिलहन व अन्य खाद्य वस्तुओं के दाम तेजी से बढ़ रहे है, वही पेट्रोल डीजल के दामों में प्रतिदिन हो रही बढोत्तरी से मालभाड़ा बढ़ना कोढ़ में खाज की तरह होता जा रहा है। लोकतांत्रिक व्यवस्था सरकार की नैतिक व संवैधानिक जिम्मेदारी है कि वह जनता को राहत दे लेकिन वह राहत देने के लिये कोई कदम उठाने के बजाय वह अपने कारपोरेट मित्रों को लाभ पहुचानें तक सीमित होकर जनसरोकार को अपने एजेंडे से अलग कर चुकी है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता जावेद अहमद वारसी ने कहा कि देश मे गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वालों की संख्या बढ़ रही है,ऑटोमोबाइल सेक्टर के उत्पादों की बिक्री घट रही है,देश भुखमरी के मामले में नेपाल,पाकिस्तान बंग्लादेश जैसे राष्ट्रों के पीछे होना साबित करता है कि देश की अर्थव्यवस्था से लेकर सभी व्यवस्थायें ध्वस्त हो चुकी है। उंन्होने कहा हर मोर्चे पर विफल सरकार ने जनता को भुखमरी की तरफ धकेलने का काम कर रही है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक