22 नवम्बर से चलेगा फाइलेरिया उन्मूलन अभियान


लखनऊ, (मानवी मीडिया)|जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के निर्देश पर शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पांडे की अध्यक्षता में हुई | इसके साथ ही  राष्ट्रीय फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के तहत जनपद में 22 नवंबर से आयोजित होने वाले फाइलेरिया उन्मूलन अभियान की जिला समन्वय समिति की भी बैठक हुई | बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने  सभी स्वास्थ्य कार्यक्रमों की समीक्षा की |  उन्होंने कहा- प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत पहली बार गर्भवती हुई महिलाओं का पंजीकरण किया जाए व प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत उच्च जोखिम वाली गर्भवती की पहचान कर उन्हें इलाज मुहैया कराया जाए | आरसीएच पोर्टल पर समय से डाटा फ़ीड किया  जाए | जननी सुरक्षा योजना  के तहत सभी का भुगतान समय से किया जाए | इसके साथ ही अगले माह शुरू होने वाले फाइलेरिया उन्मूलन अभियान के लिए आवश्यक तैयारियां की जाएं |

 जनपद में 22 नवंबर से 7 दिसम्बर तक राष्ट्रीय फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के तहत मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एमडीए) का आयोजन किया जाएगा | सभी विभाग इसमें अपना सहयोग करें | अपने अपने क्षेत्र में फाइलेरिया रोग से पीड़ित व्यक्तियों के साथ ही सभी घरों का सर्वे कर घर के सदस्यों के नाम, आयु लिंग आदि  की सूची बनाएं ताकि लक्षित जनसंख्या को दवा का सेवन कराया जा सके | इसके साथ ही अभियान का व्यापक प्रचार प्रसार कर जन जागरूकता की जाए | पूरे अभियान का माइक्रोप्लान तैयार कर उसके अनुसार क्रियान्वयन किया जाए |  

परिवार कल्याण कार्यक्रम की नोडल अधिकारी एवं अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अभिलाषा मिश्रा ने कहा – स्वास्थ्य विभाग इस अभियान में नोडल विभाग की भूमिका में है | स्वास्थ्य विभाग के साथ पंचायती राज, बेसिक शिक्षा, आईसीडीएस एवं नगर निगम की भूमिका अहम है |  

संचारी रोग के नोडल अधिकारी डा. के.पी.त्रिपाठी ने बताया- हर वर्ष सरकार द्वारा सामूहिक दवा सेवन (मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन)  के द्वारा फाइलेरिया से बचाव लिए लक्षित जनसंख्या को दवा का सेवन कराया जाता है  | इस अभियान के तहत जिला स्तरीय एवं ब्लॉक स्तरीय प्रशिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है | आने वाले दिनों में आशा, एएनएम और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का भी प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा |  

 बैठक में सभी अपर  मुख्य चिकित्सा अधिकारी, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी ,जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी योगेश रघुवंशी,  जिला कार्यक्रम प्रबंधक सतीश यादव, जिला समुदाय प्रक्रिया प्रबंधक विष्णु प्रताप, सभी समन्वित विभागों सहित विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनिसेफ़, स्वयंसेवी संस्था पाथ और पीसीआई के प्रतिनिधि उपस्थित रहे  |

Previous Post Next Post