पिछली सरकारों के कुशासन के कारण चौपट हुए कानपुर में उद्योग धंधे : डा0 दिनेश शर्मा

लखनऊ। (मानवी मीडिया)उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने कहा कि  भाजपा सरकार ने  कानपुर और बुन्देलखण्ड क्षेत्र  में विकास की यार बहा दी है। दोनों ही क्षेत्रों में हुआ नव निर्माण लोगों के जीवन में बडा परिवर्तन लेकर आया है। किसी समय में  भारत का मैनचेस्टर कहे जाने वाले कानपुर का  खोया गौरव वापस लाने की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है। पिछली सरकारों के कुशासन के चलते औद्योगिक नगरी कानपुर में तमाम बडे उद्योग धंधे बन्द हो गए थे पर वर्तमान सरकार इस शहर में औद्योगिकीकरण की रफ्तार को तेज कर रही है। इस शहर के लोगों को जल्द ही आधुनिकतम मेट्रो में सवारी करने का अवसर मिलने जा रहा है। इसका ट्रायल रन आरंभ हो चुका है।   सपा और बसपा सरकारों के समय में बिजली की किल्लत से जूझने वाले शहर में अब 24 घंटे बिजली आने लगी है। शहर की लाइफलाइन कही जाने वाली गंगा जी का स्वरूप एक बार फिर पावन और निर्मल हो चला है। इसमें गिरने वाले नालों को टैप किया जा चुका है। जिस स्थान पर कभी सीवर गिरता था आज वहां पर सेल्फी प्वांइट बन चुका है। इसी प्रकार बुन्देलखण्ड भी विकास का  नया माडल  बनने के लिए तैयार हो रहा है। डिफेन्स कारीडोर युवाओं के भविष्य की धुरी  बनने जा रहा  है। यहंा होने वाला औद्योगिक निवेश देश को रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के साथ ही रोजगार के नए अवसर भी पैदा करेगा। डिफेन्स कारीडोर के जरिए बुन्देलखण्ड को नई पहचान दी गई है। यह कारीडोर बुन्देलखण्ड के लोगों के जीवन में खुशहाली और तरक्की लेकर आएगा। अच्छी सडकों को विकास का उत्प्रेरक बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार इस क्षेत्र  लोगों के लिए  वर्तमान सरकार 297 किमी लम्बे बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे का निर्माण करा रही है । इस साल के अन्त तक इस पर वाहन दौडने लगेंगे। डिफेन्स कारीडोर और बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे  इस क्षेत्र की सूरत ही बदल देंगे। पिछली सरकारों के समय में बुन्देलखण्ड में साइकिल पर चलने वाले व्यक्ति को भी  बंदूक लेकर चलना पडता था पर आज ऐसा नहीं है। भाजपा की सरकार ने उस संस्कृति को बदला है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में प्रभु श्री राम के  मंदिर के निर्माण के साथ ही सरकार उनके वनवास   के समय की  तमाम स्मृतियों  को समेटने वाले  चित्रकूट में  भी विकास के  कार्य  करा रही है। श्री चित्रकूट धाम तीर्थ विकास परिषद  बनाकर  यहां के गौरव को लौटाने की दिशा में काम हो रहा है। चित्रकूट का विकास धार्मिक पर्यटन के साथ ही रोजगार की संभावनाओं को बढा रहा है। पानी की समस्या से जूझ रहे बुन्देलखण्ड के लोगों को  बडी राहत देते हुए सरकार ने हर घर नल योजना आरंभ की है। अब पाइप के जरिए लोगों के घरों तक फ्लोराइड और आर्सेनिक मुक्त  पीने का पानी पहुचेगा। पानी के लिए दूर जाने की जरूरत नहीं होगी। यह अन्तर वर्तमान सरकार ने पैदा किया है।   सरकार ललितपुर झांसी और चित्रकूट से हवाई सेवा भी आरंभ करेगी।   पिछली सरकारों के समय में खेत तक पानी  का पहुचना बुन्देलखण्ड के किसानों के लिए सपना ही था पर वर्तमान सरकार ने हर खेत तक पानी की परिकल्पना को साकार किया है। बुन्देलखण्ड में 19428 खेत तालाबों को निर्माण कराया गया है।  इस क्षेत्र में बिजली की समस्या को भी दूर किया गया है। किसानों को बिजली बिल के फिक्स चार्ज में  50 से 75 प्रतिशत की छूट दी जा रही है। उन्होंने कहा कि मोदी और योगी  के डबल इंजन की  सरकार के विकास कार्य विपक्ष को पच नहीं रहे हैं। वह  वर्तमान सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार अभियान चला रहा है। हैदराबाद से लेकर महाराष्ट्र और बंगाल सहित पूरा विपक्ष भाजपा को बदनाम करने की साजिश कर रहा है पर  जनता असलियत को जानती है और आने वाले चुनाव में हमेशा के लिए उनका सूपडा साफ कर देगी। उन्होंने कहा कि  उत्तर प्रदेश का अहित करने वाली ताकतों  को परास्त करना  जरूरी  है तभी विकास की मौजूदा रफ्तार बरकार रह सकती है। विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि वे लोगों को बांट कर सत्ता में आने और अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लिए हर हथकंडा अपना रहे हैं जबकि भाजपा सभी लोगोंं को एकजुट कर देश की ताकत बनाने की दिशा में काम कर रही है। पार्टी का मत है कि जब लोग एकजुट होकर प्रयास करेंगे तो राष्ट्रनिर्माण और तेजी से होगा। विपक्ष दलों के हर रोज बन रहे नए नए गठबंधनों पर निशाना साधते  हुए उन्होंने कहा कि  यह जनता को ठगने की नई चाल है। विपक्ष विभिन्न प्रकार के गठजोड बनाकर भाजपा के खिलाफ चुनाव मैदान में उतर कर देख चुका है पर हर बार उसके हाथ हार ही लगी है। अब जीतना उनके बस की बात नहीं है  क्योंकि भाजपा सरकार ने जनता से जो कहा था उससे भी कही अधिक काम करके दिखा दिया है। विकास की लालीपाप दिखाकर चुनाव लडने वालों के पास अब कोई सकारात्मक एजेन्डा नहीं बचा है। विपक्ष को चुनाव के बाद मिलने वाली  पराजय की सच्चाई  पता है इसलिए वे फ्री  में चीजे बांटने की हवा हवाई घोषणाएं कर रहे हैं।  वर्तमान सरकार को पिछली सरकार से विरासत में खाली खजाना मिला था पर आज वह भरा हुआ है। साढे चार साल में 11 लाख करोड की अर्थ व्यवस्था अब 22 लाख करोड की हो गई है क्योंकि सरकार ने ईमानदारी से काम किया है। उन्होंने कहा कि यूपी अब  अपराधियों का नहीं बल्कि नौजवानों और राष्ट्रवादियों का प्रदेश है।  यूपी में अपराधियों को बोलबाला अब इतिहास की बात हो गई है। योगी सरकार की अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टालरेन्स की नीति ने अपराधियों को प्रदेश छोडने पर मजबूर कर दिया है।  2017 के पूर्व प्रदेश में माफियाओं की सवारी निकलती थी और जनता को आतंकित करने का काम होता था। हाल यह था कि थानेदार भी थाने के अन्दर चला जाता था  पर अब समय बदल गया है।  पिछली सरकारों में हावी रहने वाले अपराधी अब वर्तमान सरकार से माफी की गुहार लगा रहे हैं। माफियाओं की 1866 करोड की अवैध सम्पत्तियां जब्त कर ली गई हैं। उत्तर प्रदेश की जनता चैन से जीवन यापन कर रही है। डा शर्मा ने  कहा कि विकास और यूपी एक दूसरे के पर्याय बन चुके हैं। पिछले साढे चार साल में नया यूपी सामने आया है जहां पर  जनता को सुविधाएं , युवाओं को नौकरी ,  किसान की आमदनी दोगुनी करने की योजनाएं ,  महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान , उद्योगों के लिए बेहतर माहौल और चाक चौबन्द कानून व्यवस्था आदि है।  आज  लखनऊ नोयडा गाजियाबाद के साथ ही प्रदेश के 7 और शहरों में मेट्रो के संचालन की सुविधा विकसित की जा रही है।    उत्तर प्रदेश की सरकार हुनर को प्रोत्साहन दे रही है। ओडीओपी योजना के तहत अलग अलग जिलों के अलग अलग उत्पादों को आगे बढाया जा रहा है।  पिछली सरकारों की विकृतियों ने  निवेशकों को प्रदेश से दूर कर दिया। वर्तमान सरकार ने सुविधाओं के विकास और बेहतर कानून व्यवस्था से प्रदेश के बारे में निवेशकों की धारणा को बदला है। इसका परिणाम है कि प्रदेश में पहली बार साढे चार लाख करोड के निवेश के प्रस्ताव आए है। इनमें से तीन लाख करोड के प्रस्तावों पर कार्य आरंभ हो गए हैं। यह कार्य बदलते यूपी  की पहचान हैं जो यहां के नागरिकों युवाओं किसानों आदि के जीवन में परिवर्तन लाएंगे। कोरोना काल में आया 56 हजार करोड का निवेश नए यूपी की गवाही दे रहा है।  यूपी अब निवेशकों का पसंदीदा डेस्टिनेशन बन चुका है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में क्रान्तिकारी बदलाव लाकर आत्मनिर्भर भारत व आत्मनिर्भर यूपी की बुनियाद को मजबूत किया जा रहा है। पिछली सरकार के समय में यूपी में नकल के ठेके उठा करते थे ।  वर्तमान सरकार ने इस परिदृश्य को बदल दिया। यूपी की नकलविहीन परीक्षा अन्य राज्यों के लिए माडल बन गई है। आज प्रदेश नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन  में भी अग्रणी है।  यहां के विश्वविद्यालय शोध और नवाचार  में अग्रता हासिल कर रहे हैं। सेवा के संकल्प व  कमजोर वंचित तबकों के उत्थान के लिए सरकार आगे बढ रही है। ऐसी बुनियादी सुविधाएं जिनके बारे में वंचित तबकों के लोगों ने आजादी के 70 साल बाद तक  सोंचा  भी नहीं  वे सब आज उनके पास बिना किसी भ्रष्टाचार के  पहुच रही है।   नए भारत के नए उत्तर प्रदेश में   42 लाख गरीबों के आवास बनाये गए हैं। इसी प्रकार स्वच्छ भारत मिशन के तहत 2.61 करोड़ व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण कराया गया है। उज्ज्वला योजना में 1.56 करोड़ नि:शुल्क गैस कनेक्शन दिए गए , वहीं सौभाग्य योजना में 01 करोड़ 38 लाख से अधिक नि:शुल्क विद्युत कनेक्शन प्रदान किए गए हैं। आयुष्मान भारत के तहत 06 करोड़ लाभार्थियों को स्वास्थ्य बीमा कवर तथा 03 करोड़ प्रवासी निवासी श्रमिकों को 02 लाख रुपये सामाजिक सुरक्षा गारण्टी दी गई है। अन्नदाता की तरक्की सरकार की प्राथमिकता में सबसे ऊपर है। इसके लिए तमाम योजनाए चलाई जा रही है।   प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के प्रारम्भ से अब तक 02 करोड़ 53 लाख 98 हजार किसानों को 37521 करोड़ रुपए हस्तान्तरित किया गया है। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के माध्यम से 08 लाख 80 हजार स्ट्रीट वेण्डर्स लाभान्वित हुए हैं।   उपमुख्यमंत्री ने कहा कि  देश में संचालित प्रधानमंत्री आवास योजना , प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना , स्मार्ट सिटी योजना ,  प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम जैसी योजनाओं में से 44 योजनाओं  के क्रियान्वयन में  उत्तर प्रदेश  पहले स्थान पर है।  सरकार ने पिछले साढे चार साल में  बिना किसी विवाद के साढे चार लाख नौकरियां दी गई हैं। 3.5 लाख युवाओं को संविदा पर नियुक्ति   , 82 लाख एमएसएमई इकाईयों को 2.16 हजार करोड के ऋण वितरण से 2 करोड को रोजगार , स्टार्टअप नीति से 5 लाख युवाओं को रोजगार , 10 लाख स्वयं सहायता समूहों के जरिए 1 करोड महिलाओं को रोजगार   जैसे तमाम रोजगार के अवसर पैदा किए गए हैं।  सरकार नोयडा में  एशिया की सबसे बडी व आधुनिकतम फिल्म सिटी का निर्माण भी कराने जा रही है।  अभिनय क्षेत्र से जुडी प्रतिभाओं को प्रदेश में ही अवसर मिल सकेंगे।   डा शर्मा ने कहा कि देश और प्रदेश के कोविड प्रबंधन की दुनियाभर  में तारीफ हुई है। पिछली सरकारों के दौरान जब भी कोई बडी बीमारी आई तो देश को टीके के लिए विदेशों पर निर्भर रहना पडता था। इस बार कोरोना जैसी महामारी के दौर में पहली बार भारत ने  प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन और प्रेरणा से खुद टीका विकसित किया । देश ने अपने लोगों को खुद की वैक्सीन से सुरक्षित करने का काम किया। अभ्ज्ञी हाल में ही देश ने 100 करोड लोगों के टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल कर दुनिया को अपनी सामथ्र्य दिखा दी है।
पूर्व में  चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौधोगिकी विश्वविद्यालय कानपुर में आयोजित कानपुर बुन्देलखण्ड क्षेत्र  की कार्यकर्ता  एवं जिलाध्यक्ष व जिला प्रभारियों की बैठक में उन्होंने कहा कि विपक्ष भाजपा के बारे में दुष्प्रचार का सामूहिक अभियान चला रहा है।

केन्द्रीय मंत्री एवं भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी  धर्मेन्द्र प्रधान , प्रदेश संगठन महामंत्री  सुनील बंसल , सह प्रभारी  सुधीर गुप्ता , सह चुनाव प्रभारी  अन्नपूर्णा देवी , पूर्व संासद प्रियंका रावत , क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह , भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष कमलावती सिंह ,  देवेश , सदस्य विधान परिषद विजय बहादुर पाठक , महानगर अध्यक्ष  सुनील बजाज , जिलाध्यक्ष  बीना आर्य , विधायक अरूण पाठक , विधायक  सुरेन्द्र मैथानी  की उपस्थिति में उन्होंने कहा कि  विपक्षी दलों के भ्रमजाल में नहीं फसना है। ऐसा करके वे भाजपा की क्रियाशीलता को प्रभावित करना चाहते हैं।  इससे विचलित होने की नहीं बल्कि  इसका संयमित होकर जवाब देने की जरूरत है। वे लोगों को जाति धर्म क्षेत्र के आधार पर बांटना चाहते हैं इसके विपरीत भाजपा लोगों को एकजुट कर उन्हे देश की ताकत बनाना चाहती है। वर्तमान सरकार ने भारत की संस्कृति के उत्थान के लिए भी कार्य किए है। अयोध्या में होने वाले दीपोत्सव ने राम नगरी को नई पहचान दे दी है।

उन्होंने कहा कि इस प्रकार की  बैठके पार्टी के कार्यक्रम को जनता तक पहुचाने व पार्टी की रणनीति को जमीन पर उतारने पर उतारने का माध्यम हैं। यहा पर मिला प्रशिक्षण कार्यकर्ता को राष्ट्र निर्माण में योगदान करने वाला नेता बनाने में मददगार होती हैं। भाजपा में जिम्मेदारी देने से पूर्व व्यक्ति को तराशा जाता है। इसीलिए भाजपा के कार्यकर्ता की अहमियत है और विपक्ष भी यह कहने को को मजबूर है कि कार्यकर्ता  ही भाजपा और अन्य विपक्षी दलों में अन्तर पैदा करते हैं। भाजपा कार्यकर्ता का अनुशासन भी समाज के लिए उदाहरण है।  कानपुर बुन्देलखण्ड  क्षेत्र के कार्यकर्ताओं में विपक्ष के प्रहारों को कुंद बनाने की बेजोड क्षमता मौजूद  है। इस क्षेत्र में पार्टी के डेढ करोड नए सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा गया है । यह सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को वर्तमान सरकार की उपलब्धियां जनता तक पहुचाने के साथ ही पिछली सरकारों व वर्तमान सरकार के अन्तर को भी लोगों को बताना चाहिए। जनता को भी  पता चले कि भाजपा की सरकार दूसरे दलों की सरकार से अलग कैसे है। उन्होंने कहा कि एक समय वह भी था जब त्योहारों के पूर्व ही प्रदेश के कई जिलों में कफ्र्यू  लग जाता था।  अपराधियों का आतंक अपने चरम पर था। इन सब पर वर्तमान सरकार ने अंकुश लगा दिया है। अब अपराधी सरकार से माफी की भीख मांग रहे हैं। प्रदेश में पिछले साढे चार साल में एक भी दंगा नहीं हुआ है।  यह जो अन्तर आया है वह जनता के के बीच में ले जाने की जरूरत है। जनता के बीच में चर्चा लगातार चलनी चाहिए।  पुराने कार्यकर्ताओं के पास भी जाने की जरूरत है क्योंकि इन लोगों की मेहनत के कारण ही पार्टी आज इस मुकाम पर पहुची है। डा शर्मा ने कहा कि   सपा बसपा और कांग्रेस से जुडे लोगों के घरों पर  जाकर उन्हे भी पार्टी के साथ जोडने के प्रयास किए जाने चाहिए। यही सच्चे कार्यकर्ता का धर्म है। इसके लिए रणनीति बनाना कार्यकर्ता की जिम्मेदारी है। उनका कहना था कि संयम और  लोकतांत्रिक पद्धति से विपक्ष के प्रहारों का जवाब  दिया जाना चाहिए पर अपशब्दों के प्रयोग से बचना चाहिए। हर कार्यकर्ता को तथ्यात्मक जानकारी से भी अपने को पूर्ण रखना होगा। उन्हें अपनी गतिविधियों का सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों के जरिए प्रचार भी करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता  के सामने  जीत के पिछले रिकार्ड को तोडने का लक्ष्य सामने है। इसके लिए मतदाता को मतदान केन्द्र तक लाना होगा। 

उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर शिक्षा व्यवस्था के बारे में निर्देश भी दिए।  

Previous Post Next Post