मुख्यमंत्री योगी ने पेश किया 4 साढे साल के कार्यकाल की उपलब्धियां, बोले- विकास एवं सुशासन की मिसाल बन चुका है उ0 प्र0, सभी घोषणाओं को पूरा किया


लखनऊ (मानवी मीडिया): मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा किया कि 2017 से पहले अपराध और पिछड़ेपन का शिकार माना जाने वाला उत्तर प्रदेश पिछले साढ़े चार साल के दौरान देश में विकास और सुशासन की मिसाल बन चुका है और उनकी सरकार ने चुनाव से पहले संकल्पपत्र की एक-एक घोषणाओं को पूरा किया है। योगी ने रविवार को लोकभवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में अपनी सरकार की साढ़े चार साल की उपलब्धियों की विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि 2017 में संकल्पपत्र में जो घोषणाएं की थी एक-एक वादे को सरकार पूरा करने काम किया है। उन्हाेंने कहा कि 2022 में उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव आयेंगे और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) 350 सीट पाकर के फिर से भारी बहुमत के साथ सरकार बनायेंगी।

उन्होंने कहा कि मैं अपनी पूरी टीम की ओर से प्रदेश की 24 करोड़ जनता को हृदय से बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि अभिभाव स्वरुप यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में आज हमारी सरकार सफलतापूर्वक साढ़े चार वर्ष पूरे कर रही है। यह कार्यकाल आबादी में सबसे बड़े राज्य, उस प्रदेश के लिए सुरक्षा व सुशासन की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा और विकास के क्षेत्र में राज्य सरकार ने जो उपलब्धियां हासिल की इससे देश दुनिया में उत्तर प्रदेश के प्रति लोगों का नजरिया बदला है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि में 2012 से 2017 के पहले प्रदेश में गुंडे माफिया सत्ता संरक्षण प्राप्त करके भय का माहौल बनाए रहते थे और अराजकता फैलाते थे। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में औसतन हर तीसरे-चौथे दिन एक दंगा होता था, लेकिन पिछले साढ़े चार वर्षो में प्रदेश में कोई दंगा नहीं हुआ। हमारी सरकार ने गुण्डे बदमाशों के खिलाफ काम किया। उन्होंने कहा कि अपराधियों के डर से प्रदेश में निवेशक आने से कतराते थे। केन्द्र सरकार की योजनाओं का क्रियान्वयन पारदर्शिता के साथ नहीं होने से गरीब और किसान बदहाल हालत में थे।

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने सत्ता में आने के बाद संगठित अपराध पर नकेल कसी और माफियाओं की 1800 करोड़ों की संपत्ति को जब्त किया और उनके अवैध निर्माण ध्वस्त कराने का काम किया गया। माफियाओं के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की गयी। अब यहां शांति का वातावरण है। उन्होंने कहा कि सरकार ने उद्योग धंधे लगाने पर आ रही जटिलताओं का समाधान किया गया, जिसके चलते निवेशकों का रूझान प्रदेश की तरफ गया। यहां निवेश के साथ ही रोजगार के अवसर पैदा हुये। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले लखनऊ में नेता अपने लिए हवेलियां बनाते थे लेकिन भाजपा सरकार ने गरीबों के लिए बगैर भेदभाव किए 42 लाख मकान बनाए हैं । उन्होंने कहा कि बीज,खाद और कृषि उपकरणों में सब्सिडी के साथ ही किसानों की उनकी उपज का वाजिब मूल्य देकर उनकी आमदनी मेें इजाफा करने का काम किया।

उन्होंने कि वर्ष 2007 से 2016 के बीच राज्य में सपा और बसपा की सरकारें सत्ता में रहीं। मायावती सरकार के कार्यकाल मे 16 लाख इंदिरा आवास का निर्माण हुआ जबकि सपा सरकार में 13 लाख आवास ही तैयार हो सके। इनके मुकाबले मौजूदा सरकार में 42 लाख से अधिक प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवासों का निर्माण किया गया है जबकि मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) में एक लाख 8 हजार 495 आवासों का निर्माण किया गया।

मुख्यमंत्री योगी ने रखा रिपोर्ट कार्ड, बोले- माफिया राज खत्म; दुनिया में बदली उत्तर प्रदेशकी  पहचान | 

योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने सत्ता संभालने के बाद 86 लाख किसानों के 36 हजार करोड़ रूपये के ऋण माफ किए। गन्ना किसानों को 1.44 लाख करोड़ से अधिक गन्ना मूल्य का भुगतान किया वहीं 476 लाख मीट्रिक टन चीनी का उत्पादन किया गया। न्यूनतम समर्थन मूल्य में दोगुनी वृद्धि कर किसानों के चेहरों की मुस्कान वापस लायी गयी। सरकार ने 435 लाख मीट्रिक टन खाद्यान्न की खरीद की जिसके एवज में किसानों को 79 हजार करोड़ रूपये का भुगतान किया गया। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में किसानों को 2376 करोड़ रूपये की क्षतिपूर्ति की गयी। किसानों के लिए कई सिंचाई योजनाओं को आगे बढ़ाया।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि महिला सशक्तिकरण की दिशा में उनकी सरकार ने कई अहम कदम उठाये है। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत एक करोड़ 67 लाख महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया गया। प्रदेश के सभी 1535 थानों में पहली बार महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की जा रही है। बालिकाओं को स्नातक स्तर तक निशुल्क शिक्षा दी गई वहीं मुस्लिम महिलाओं को बिना महरम के हज पर जाने की सुविधा दी गई।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि ‘ईज आफ डूइंग बिजनेस’ में प्रदेश 14वें से दूसरे स्थान पर आया है। प्रदेश में निवेश का माहौल बना है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में वर्ष 2018 में पहला इंवेस्टर्स समिट का आयोजन किया ,जिससे लोगों की सोच प्रदेश के बारे में बदली। अब यह राज्य देश में एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित हो रहा है। पहले उद्योगपति यहां आने से डरते थे पर अब वह यहां पर निवेश करना चाहते हैं। पहले ट्रांसफर व पोस्टिंग में खूब लेन-देन होता था पर अब ऐसा बिल्कुल नहीं होता है। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों में हमारी सरकार ने 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी। सभी युवाओं को योग्यता के आधार पर नौकरी दी गई। ये सभी नियुक्तियां वर्षों से लंबित थी। हमारी सरकार ने पूरी पारदर्शिता के साथ सभी की भर्ती की है, कहीं कोई लेन देन नहीं नहीं हुआ है।

मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि एक करोड़ 56 लाख से अधिक गरीबों को उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस दिया गया। छह करोड़ से अधिक लोगों को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपये की सुरक्षा बीमा कवर दिया गया। दो करोड़ 53 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से जोड़ा गया। तीन करोड़ श्रमिकों को दो लाख रुपये की सामाजिक सुरक्षा की गारंटी दी गई। प्रदेश के छह करोड़ लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ मिला। उन्होंने बताया कि 40 लाख गरीबों को राशन कार्ड दिया गया। उन्होंने कहा कि पहले फर्जी राशन कार्ड बनाये जाते थे और गरीबों को उनका राशन नहीं मिलता था लेकिन अब ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि फर्जी राशन कार्ड रद्द करने से सरकार को 1200 करोड़ रुपये का फायदा हुआ है।

योगी ने कहा कि ‘ईज आफ डूइंग बिजनेस’ में प्रदेश 14वें से दूसरे स्थान पर आया है। प्रदेश में निवेश का माहौल बना है। प्रदेश में पहला इंवेस्टर्स समिट का आयोजन किया जिससे लोगों की सोच प्रदेश के बारे में बदली। अब यह राज्य देश में एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित हो रहा है। पहले उद्योगपति यहां आने से डरते थे पर अब वह यहां पर निवेश करना चाहते हैं। पहले ट्रांसफर व पोस्टिंग में खूब लेन-देन होता था पर अब ऐसा बिल्कुल नहीं होता है। उन्होने कहा कि पिछले 4.5 वर्षों में हमारी सरकार ने 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी। सभी युवाओं को योग्यता के आधार पर नौकरी दी गई। ये सभी नियुक्तियां वर्षों से लंबित थी। हमारी सरकार ने पूरी पारदर्शिता के साथ सभी की भर्ती की है, कहीं कोई लेन देन नहीं नहीं हुआ है।

मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि 1 करोड़ 56 लाख से अधिक गरीबों को उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस दिया गया। छह करोड़ से अधिक लोगों को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपये की सुरक्षा बीमा कवर दिया गया। दो करोड़ 53 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से जोड़ा गया। तीन करोड़ श्रमिकों को दो लाख रुपये की सामाजिक सुरक्षा की गारंटी दी गई। प्रदेश के छह करोड़ लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ मिला। 40 लाख गरीबों को राशन कार्ड दिया गया।

उन्होने कहा कि अयोध्या में भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया गया। इसके पहले की सरकारों के मुख्यमंत्री अयोध्या नहीं जाते थे। विपक्ष के नेता डरते थे कि उन पर सांप्रदायिकता का लेवल लग जाएगा पर अब हर वर्ष वहां भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। मथुरा में होली मनाई जाती है। इस सरकार में प्रदेश की विरासत को दुनिया के सामने रखने का प्रयास किया गया।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक