लखनऊ स्मार्ट सिटी की 14वीं बोर्ड बैठक संपन्न हुईः-

लखनऊः- (मानवी मीडिया) मंडलायुक्त  रंजन कुमार की अध्यक्षता में लखनऊ स्मार्ट सिटी की 14वीं बोर्ड बैठक स्मार्ट सिटी कार्यालय सभागार, लालबाग में संपन्न हुई बैठक में नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी पूर्वी  के0पी0 सिंह, अपर नगर आयुक्त  अमित कुमार सहित सभी संबंधित अधिकारी व कार्यदायी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

 मंडलायुक्त द्वारा परियोजनाओं की बिन्दुवार समीक्षा की गई लखनऊ नगर क्षेत्र में भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में पार्किंग की सुविधा पर जोर देते हुए यथा आवश्यक कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये, मण्डलायुक्त ने कहा कि लखनऊ नगर क्षेत्र में आने वाले युवाओं के लिए कौशल विकास (स्किल डेवलपमेंट) करा के हर वर्ष 15 हजार युवाओं को रोजगार दिया जायेगा लखनऊ स्मार्ट सिटी द्वारा लखनऊ नगर में विभिन्न स्थल चिन्हित करते हुए एलईडी डिस्प्ले बोर्ड कराए जाने के निर्देश दिए तथा लखनऊ नगर के हास्पिटल, मेट्रो स्टेशन, बस स्टैंड, इलेक्ट्रीसिटी को लेकर विस्तार पूर्वक चर्चा हुई तथा मोबाइल ऐप द्वारा ई-रिक्सा का प्रयोग किया जायें तथा जिससे यात्रियों को सफर करने में कोई असुविधा न रहें तथा इनके पार्किंग स्थान को चिन्हित कर उन्हें उपयोगी और सुविधाजनक प्लान बनाने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये गये तथा फ्री वाई-फाई सेवा के लिए स्थान चिन्हित कर जल्द से जल्द निःशुल्क वाई-फाई सेवा प्रदान की जाये जिससे विद्यार्थी पढ़ाई के लिए अधिक से अधिक लाभ उठा सके। 

 मंडलायुक्त ने सख्त रूख अपनाते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि अपनी जिम्मेदारी समझे और गम्भीरता पूर्वक काम करें और ससमय कार्यों को पूर्ण करायें अन्यथा किसी प्रकार लापरवाही कदापि क्षम्य नहीं है। मण्डलायुक्त ने कहा कि साथ ही कार्यदायी संस्था को बोर्ड के समक्ष प्रजेंटेशन देना होगा उसके बाद बोर्ड ऐसे प्रोजेक्ट की उपयोगिता के आधार पर विचार-विमर्श करके यदि सहमति देता है तो ही उस प्रोजेक्ट पर कार्य होगा। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के सभी कार्यो में प्रोटोकाल का श-प्रतिशत पालन किया जायें।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र