पीठासीन अधिकारियों की शासकीय कार्यहित में 03 श्रम न्यायालयों का दिया गया अतिरिक्त प्रभार


लखनऊ, (मानवी मीडिया)प्रदेश सरकार ने प्रदेश में स्थापित 06 औद्योगिक न्यायाधिकरणों एवं 20 श्रम न्यायालयों में से 03 श्रम न्यायालयों में पीठासीन अधिकारियों के रिक्त पदों पर बाधित हो रहे कार्य के दृष्टिगत शासकीय कार्यहित में अन्तरिम/वैकल्पिक व्यवस्था के तहत उनके नजदीकी जनपदों के पीठासीन अधिकारियों के कार्य निस्तारण हेतु अतिरिक्त प्रभार दिया है।

अपर मुख्य सचिव श्रम एवं सेवायोजन  सुरेश चन्द्रा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इन पीठासीन अधिकारियों में औद्योगिक न्यायाधिकरण (5) मेरठ के पीठासीन अधिकारी न्यायमूर्ति  वीरेन्द्र कुमार द्वितीय को श्रम न्यायालय मेरठ, औद्योगिक न्यायाधिकरण (4), आगरा के पीठासीन अधिकारी न्यायमूर्ति  अनन्त कुमार को श्रम न्यायालय आगरा तथा श्रम न्यायालय गौतमबुद्धनगर (नोएडा) के पीठासीन अधिकारी  प्रदीप कुमार गुप्ता को श्रम न्यायालय (2), गाजियाबाद को इन श्रम न्यायालयों में पीठासीन अधिकारियों की नियमित नियुक्ति होने तक अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। संबंधित पीठासीन अधिकारी अतिरिक्त कार्य प्रभार वाले श्रम न्यायालयों में प्रति सप्ताह 03 दिन कार्य करेंगे। इन अधिकारियों को अतिरिक्त कार्य प्रभार हेतु अलग से कोई भी पारिश्रमिक/भत्ता देय नहीं होगा।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र