उच्च शिक्षा विभाग में प्राचार्यों एवं प्रवक्ताओं का पारदर्शी आन-लाईन स्थानान्तरण नीति के अन्तर्गत किया जाएगा स्थानांतरण

 उच्च शिक्षा विभाग में प्राचार्यों एवं प्रवक्ताओं का पारदर्शी आन-लाईन स्थानान्तरण नीति के अन्तर्गत किया जाएगा स्थानांतरण

स्थानान्तरण हेतु आन-लाईन साफ्टवेयर पर विकल्प फीड करने की तिथि 01 व 02 जुलाई, 2021 निर्धारित

आनलाईन स्थानान्तरण का परिणाम 06 जुलाई, 2021 को जारी किया जाएगा


लखनऊ: (मानवी मीडिया)प्रदेश के राजकीय महाविद्यालयों के प्राचार्यों एवं प्रवक्ताओं के कार्य संतुष्टि को अधिकतम करने तथा छात्र/शैक्षिक हित संरक्षित करने के लिए स्थानान्तरण में पारदर्शिता, समानता एवं मांग आधारित उचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के उद्देश्य से राजकीय महाविद्यालयों हेतु स्थानान्तरण नीति लागू की गयी है। उच्च शिक्षा विभाग में अपनाई गयी इस पारदर्शी आन-लाईन स्थानान्तरण नीति के अन्तर्गत स्थानांतरण किया जा रहा है। विभाग द्वारा वर्तमान सत्र हेतु स्थानांतरण किए जाने की समय सारिणी निर्गत कर दी गई है।

       प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा  सुभाष चंद् शर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान स्थानांतरण सत्र हेतु प्राचार्यो/प्रवक्ताओं से वास्तविक उपलब्ध रिक्तियों के सापेक्ष आन-लाईन साफ्टवेयर पर विकल्प फीड करने की तिथि 01 व 02 जुलाई, 2021 निर्धारित की गयी है। सरकार के महत्वाकांक्षी जिला योजना के जिलों में से किसी प्रवक्ता को अन्यत्र स्थानांतरण नहीं किया जाएगा, परन्तु अन्य जिलों से इन जिलों में स्थानांतरण सम्भव हो सकेगा।

        प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा ने बताया कि स्थानांतरण नीति में निर्धारित व्यवस्था के अनुसार उपयुक्त प्राचार्यों एवं प्रवक्ताओं को उनके द्वारा आन-लाइन दिये गये विकल्प के राजकीय महाविद्यालयों में स्थानांतरण करने पर नियमानुसार विचार किया जाएगा। आनलाईन स्थानांतरण का परिणाम 06 जुलाई, 2021 को जारी किया जाना है। स्थानांतरित प्रवक्ता को रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर सन्देश भेजा जाएगा और वह अपने लागिंन एकाउंट से स्थानांतरण आदेश प्राप्त कर सकेगा।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र