मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश मंत्रिमण्डल के सदस्यों के साथ वर्चुअल संवाद किया

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सावधानी और सतर्कता जरुरी: मुख्यमंत्री

पिछले एक वर्ष के दौरान प्रधानमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में कोरोेना के विरुद्ध सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ी गयी और उसके सुपरिणाम सभी के सामने आए
कोविड-19 के प्रथम दौर को नियंत्रित करने में प्रदेश सफल रहा
हमें लोगों के जीवन व जीविका दोनों को बचाना है,
बेहतर कोविड प्रबन्धन और व्यापक टीकाकरण के माध्यम से
हम एक बार फिर कोविड के विरुद्ध लड़ाई को मजबूती के साथ जीतेंगे

सभी स्तर पर कोविड प्रोटोकाॅल का पालन किया जाए
कोविड के विरुद्ध संघर्ष में समाज के हर वर्ग, हर तबके का सहयोग आवश्यक
मंत्रिमण्डल के सदस्यों से अपेक्षा की कि वे कोविड संक्रमण से स्वयं को बचाते हुए पूरी मजबूती के साथ जनता की सुरक्षा व बचाव के सम्बन्ध में हर सम्भव कार्यवाही करें

मंत्रिगण अपने-अपने प्रभार वाले जनपदों व विधान सभा क्षेत्रों में भी
कोविड-19 के विरुद्ध कार्य योजना बनाते हुए सक्रियता के साथ कार्य करें
कोविड के दृष्टिगत पंचायत चुनाव को भी सफलतापूर्वक
सम्पादित करने में वे अपनी भूमिका का निर्वहन करें

जिला प्रशासन के साथ संवाद बनाते हुए कोविड नियंत्रण सम्बन्धी कार्यवाही करें
स्वच्छता, सैनिटाइजेशन व फाॅगिंग का व्यापक अभियान चलाया जाए
डेडीकेटेड कोविड अस्पताल की व्यवस्थाएं सुनिश्चित हों

कोविड नियंत्रण व बचाव के सम्बन्ध में जनपद स्तर पर समीक्षाएं की जाएं
कोविड नियंत्रण व बचाव के लिए प्रदेश में
व्यापक स्तर पर टीकाकरण अभियान संचालित
प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में महात्मा ज्योतिबा फुले की जयन्ती 11 अप्रैल से लेकर बाबा साहब डाॅ0 बी0आर0 आंबेडकर की जयन्ती 14 अप्रैल, 2021 तक टीका उत्सव चलाया जा रहा
लखनऊ
(मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सावधानी और सतर्कता जरुरी है। पिछले एक वर्ष के दौरान प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  के कुशल नेतृत्व में कोरोेना के विरुद्ध सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ी गयी और उसके सुपरिणाम सभी के सामने आए। कोविड-19 के प्रथम दौर को नियंत्रित करने में प्रदेश सफल रहा। कोरोना की दूसरी लहर एक बार फिर से प्रदेश, देश व दुनिया में तीव्र संक्रमण के रूप में सामने आयी है, जिसका मुकाबला कार्ययोजना बनाकर टीमवर्क के साथ करना होगा। हमें लोगों के जीवन व जीविका दोनों को बचाना है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि बेहतर कोविड प्रबन्धन और व्यापक टीकाकरण के माध्यम से हम एक बार फिर कोविड के विरुद्ध लड़ाई को मजबूती के साथ जीतेंगे। उन्हांेने अपेक्षा की कि सभी स्तर पर कोविड प्रोटोकाॅल का पालन किया जाए।
   

मुख्यमंत्री  आज यहां अपने सरकारी आवास पर प्रदेश मंत्रिमण्डल के सदस्यों के साथ वर्चुअल संवाद कर रहे थे। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा, संसदीय कार्य मंत्री  सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, विधान परिषद सदस्य  स्वतंत्र देव सिंह, मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी उपस्थित थे। मंत्रिमण्डल के अन्य सदस्य वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े हुए थे। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने एक प्रस्तुतीकरण देते हुए प्रदेश में कोविड प्रबन्धन, संक्रमण तथा इस सम्बन्ध में अब तक की गयी कार्यवाही जानकारी दी।
   

मुख्यमंत्री  ने कहा कि हाल ही में प्रधानमंत्री  की कोविड के सम्बन्ध में देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग हुई। महामहिम राज्यपाल  आनंदीबेन पटेल जी के साथ विगत दिवस सर्वदलीय बैठक सम्पन्न हुई है। आज महामहिम राज्यपाल ने स्थानीय निकाय के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया। उन्होंने कहा कि कोविड के विरुद्ध के संघर्ष में समाज के हर वर्ग, हर तबके का सहयोग आवश्यक है।
   

मुख्यमंत्री  ने मंत्रिमण्डल के सदस्यों से अपेक्षा की कि वे कोविड संक्रमण से स्वयं को बचाते हुए पूरी मजबूती के साथ जनता की सुरक्षा व बचाव के सम्बन्ध में हर सम्भव कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि सभी मंत्रिगण अपने-अपने प्रभार वाले जनपदों व विधान सभा क्षेत्रों में भी कोविड-19 के विरुद्ध कार्य योजना बनाते हुए सक्रियता के साथ कार्य करें। जहां तक सम्भव हो सके, तकनीक का सहारा लेते हुए वर्चुअल माध्यम से विभागीय कार्याें को सम्पादित किया जाए। मंत्रिगण अपने-अपने विभागीय कार्याें व कार्यालयों की समीक्षा भी करें।
मुख्यमंत्री  ने अपेक्षा की कि कोविड के दृष्टिगत प्रदेश में इस समय पंचायत चुनाव को भी सफलतापूर्वक सम्पादित करने में वे अपनी भूमिका का निर्वहन करें। जिला प्रशासन के साथ संवाद बनाते हुए कोविड नियंत्रण सम्बन्धी कार्यवाही की जाए। निगरानी समितियों की सक्रियता तथा इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेन्टर की कार्य प्रणाली का भी अनुश्रवण हो। यह सुनिश्चित किया जाए कि फील्ड में कोविड के नियंत्रण व बचाव के लिए कार्य कर रहे सभी कर्मियों के पास आवश्यक उपकरण उपलब्ध रहें। धर्म स्थलों पर ज्यादा भीड़ एकत्रित न होने पाए। स्वच्छता, सैनिटाइजेशन व फाॅगिंग का व्यापक अभियान चलाया जाए। कंटेनमेन्ट जोन के सम्बन्ध में सख्ती से कार्यवाही हो। एल-2 व एल-3 सुविधाओं से युक्त बेड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। मानव संसाधन के प्रशिक्षण की व्यवस्था हो। वर्चुअल आई0सी0यू0 के माध्यम से कोविड नियंत्रण व उपचार की कार्यवाही हो। वेण्टीलेटर व एच0एफ0एन0सी0 हर हाल में कार्यशील रहे। डेडीकेटेड कोविड अस्पताल की व्यवस्थाएं सुनिश्चित हो। निजी क्षेत्रों का भी सहयोग लिया जाए।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रत्येक जनपद की स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार कार्यवाही की जाए। कोविड नियंत्रण व बचाव के सम्बन्ध में जनपद स्तर पर समीक्षाएं की जाएं। कोविड व नाॅन कोविड मरीजों के लिए अलग-अलग एम्बुलेन्स की व्यवस्था रहे। डाॅक्टर्स व पैरामेडिक्स सहित अन्य कर्मियों को कोविड संक्रमण से सुरक्षित रखने के कार्य किये जाएं। ‘108’ एम्बुलेन्स सेवा के 50 प्रतिशत वाहनांे का उपयोग कोविड कार्याें के लिए सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी कोविड अस्पतालों में जांच व उपचार की व्यवस्था निःशुल्क है। काॅन्टैक्ट टेªसिंग व टेस्टिंग का कार्य अधिक से अधिक किया जाए। सी0एस0आर0 तथा अन्य जनप्रतिनिधियों का सहयोग कोविड नियंत्रण व बचाव के लिए प्राप्त किया जाए।  
मुख्यमंत्री  ने कहा कि कोविड नियंत्रण व बचाव के लिए प्रदेश में व्यापक स्तर पर टीकाकरण अभियान संचालित है। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में महात्मा ज्योतिबा फुले की जयन्ती 11 अप्रैल से लेकर बाबा साहब डाॅ0 बी0आर0 आंबेडकर की जयन्ती 14 अप्रैल, 2021 तक टीका उत्सव चलाया जा रहा है। इसमें लक्षित आयु वर्ग के लोगों का व्यापक स्तर पर टीकाकरण कार्य किया जाए। वैक्सीन का वेस्टेज न हो। उन्होंने कहा कि 11 अप्रैल को 6,000 केन्द्रों पर 03 लाख लोगों को टीकाकरण किया गया। इन केन्द्रों की संख्या 8,000 तक की जा रही है। 


Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र