ममता ने नरेंद्र मोदी पर लगाया चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, बोलीं- बांग्लादेश में बंगाल पर भाषण दे रहे प्रधानमंत्री


कोलकाता (मानवी मीडिया): पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी पर चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया है। बांग्लादेश दौरे पर पीएम मोदी के संबोधनों को लेकर ममता बनर्जी ने आपत्ति जताई है और कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बांग्लादेश में बंगाल पर भाषण दे रहे हैं।ममता बनर्जी और नरेंद्र मोदी

 उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, पीएम बांग्लादेश में बैठकर वोट की मार्केटिंग कर रहे हैं , पहले कहते हैं कि बांग्लादेश से हम घुसपैठिये बुला रहे हैं लेकिन अब वो खुद वहां बैठकर बंगाल की राजनीति कर रहे हैं। ममता बनर्जी ने ये भी कहा, 'साल 2019 में जब एक बांग्लादेशी अभिनेता हमारी रैली में शामिल हुआ तो बीजेपी ने बांग्लादेश सरकार से बात करने के साथ उसका वीजा रद्द करा दिया था। लेकिन आज जब वोटिंग चल रही है तो वो बांग्लादेश में बैठकर एक वर्ग के लोगों के वोट की ओर देख रहे हैं। ऐसे में आपका वीजा क्यों नहीं कैंसल होना चाहिए? हम इस बारे में चुनाव आयोग से शिकायत करेंगे।'वहीं, बंगाल बीजेपी ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नंदीग्राम के बीजेपी जिला उपाध्यक्ष से चुनाव में मदद मांगी है। उनकी घबराहट बताती है कि वो चुनाव हार रही हैं। दरअसल, बांग्लादेश दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ओरकांडी में मतुआ समुदाय के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। इससे पहले उन्होंने मतुआ समुदाय के मंदिर के दर्शन किए और समुदाय के लोगों को संबोधित किया था। पश्चिम बंगाल चुनाव: ममता बनर्जी का आरोप, 'प्रधानमंत्री बांग्लादेश में बैठकर वोट की मार्केटिंग कर रहे हैं'मतुआ समुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, आज श्री श्री हरिशचंद्र ठाकुर जी की कृपा से मुझे ओराकान्डी ठाकुरबाड़ी की इस पुण्यभूमि को प्रणाम करने का सौभाग्य मिला है। मैं श्री श्री हरिशचंद्र ठाकुर जी, श्री श्री गुरुचंद ठाकुर जी के चरणों में शीश झुकाकर नमन करता हूं। उन्होंने कहा कि किसने सोचा था कि भारत का प्रधानमंत्री कभी ओराकांडी आएगा। मैं आज वैसा ही महसूस कर रहा हूं, जो भारत में रहने वाले 'मतुआ संप्रदाय' के मेरे हजारों-लाखों भाई-बहन ओरकांडी आकर महसूस करते हैं।पश्चिम बंगाल में ठाकुरनगर में जब मैं गया था, तो वहां मेरे मतुआ भाइयों-बहनों ने मुझे परिवार के सदस्य की तरह प्यार दिया था। विशेष तौर पर 'बॉरो-मां' का अपनत्व, मां की तरह उनका आशीर्वाद, मेरे जीवन के अनमोल पल रहे हैं। प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि भारत और बांग्लादेश दोनों ही देश अपने विकास से, अपनी प्रगति से पूरे विश्व की प्रगति देखना चाहते हैं। दोनों ही देश दुनिया में अस्थिरता, आतंक और अशांति की जगह स्थिरता, प्रेम और शांति चाहते हैं। यही मूल्य, यही शिक्षा श्री श्री हॉरिचान्द देव  ने हमें दी थी।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र