कल सुबह 6 बजे से किसानों का भारत बंद, शाम तक बंद रहेंगी कई सेवाएं


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों का आंदोलन जारी है। शुक्रवार (26 मार्च) को देशव्यापी बंद की तैयारी किसान संगठनों ने कर ली है। किसानों के इस बंद को कई व्यापारी संगठनों, ट्रेड यूनियनों, ट्रक यूनियनों, बस यूनियनों आदि का समर्थन प्राप्त है। वहीं, किसान नेताओं ने स्थानीय लोगों से बंद के दौरान होने वाली परेशानी के लिए माफी मांगते हुए सहयोग करने की अपील भी की है। किसान नेताओं राजवीर सिंह जादौन और गौरव टिकैत ने कहा कि 26 मार्च का भारत बंद पूरी तरह सफल होगा।  

संयुक्त किसान मोर्चा ने 26 मार्च को सुबह 6 से शाम 6 बजे तक भारत बंद का आह्वान किया है। इस दौरान देशभर में सडक़ और रेल परिवहन, बाजार और अन्य सार्वजनिक स्थान बंद रहेंगे। हालांकि बंद के दौरान सभी आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं चालू रहेंगी। किसान नेता दर्शन पाल ने कहा, हम देश के लोगों से भारत बंद को सफल बनाने और अन्नदाता का सम्मान करने की अपील करते हैं। किसानों का भारत बंद कल, जानें क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद? | 


ये चीजें रहेंगी बंद

किसान संगठनों के मुताबिक 12 घंटे बंद के दौरान सभी तरह की दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। अगर आप रोजाना दूध और डेयरी के आइटम खरीद कर लाते हैं, तो आप गुरुवार शाम को ही व्यवस्था कर लीजिए, क्योंकि इन दुकानों को भी बंद रखने का फैसला हुआ है। किसान नेताओं के मुताबिक लोगों से स्वेच्छा से दुकान बंद करने की अपील की गई है। कुछ सब्जी मंडियों ने भी किसानों के भारत बंद को समर्थन दिया है। ऐसे में सब्जी की सप्लाय में भी परेशानी हो सकती है। 8 दिसंबर को खुले रहेंगे देशभर के बाजार और ट्रांसपोर्ट, CAIT ने जताई  इस बात पर चिंता |क्या खुलेगा?

किसान संगठनों के मुताबिक उनका मकसद सरकार तक अपनी आवाज पहुंचाने का है, वो नहीं चाहते कि किसी को इससे समस्या हो। जिस वजह सडक़ों को जाम नहीं किया जाएगा। ऐसे में यातायात पूरी तरह से सामान्य रहेगा। वहीं फैक्ट्रियों-कंपनियों को नहीं बंद करवाने का फैसला लिया गया है। इसके अलावा पेट्रोल पंप, परचून की दुकानें, मेडिकल स्टोर, जनरल स्टोर, किताब की दुकानें खुली रहेंगी।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र