स्वामी प्रसाद मौर्य ने रामचरित मानस को बताया दकियानूसी


लखनऊ  (मानवी मीडियासमाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने रामचरित मानस को लेकर बड़ा बयान दिया है। उनके इस विवादित बयान से सनसनी मच गयी है। एक निजी चैनल को दिए बयान में उन्होंने रामचरित मानस को दकियानूसी बताया है। उन्होंने कहा है कि रामचरित मानस पर बैन लगाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा है कि रामचरित मानस में कुछ हिस्सों को बदल देना चाहिए। उन्होंने तर्क दिया है कि इसमें महिलाओं और जाति विशेष का अपमान किया गया है। उन्होंने तुलसीदास द्वारा रचित रामायण को दकियानूसी करार दिया है। 

उनके इस बयान पर भाजपा प्रवक्ता एसएन सिंह ने कहा है कि इस प्रकार के ओछे बयानों से व्यक्ति की मानसिकता का पता चलता है। सूरज ,धरती और भगवान सबके लिए हैं। ऐसे बयान सस्ती लोकप्रियता का पैमाना भर हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के बयानों के लिए ईशनिंदा कानून बनाना बेहद जरूरी है।       


Previous Post Next Post