लखनऊ: भारत से अमेरीका चलाते थे नशीली दवाओं का कारोबार


लखनऊ  (
मानवी मीडिया)  एसटीएफ ने राजधानी के तीन ऐसे शातिरों को गिरफ्तार किया है जो प्रतिबंधित दवाओं को अमेरिका भेजकर मोटा मुनाफा कमा रहे थे। टीम ने डार्क वेब की स्काइप के माध्यम से प्रतिबंधित नशीली दवाओं की तस्करी करने वाले गिरोह के तीन शातिर मास्टर माइंड को गिरफ्तार कर लिया।

इस मामले में जिला प्रशासन की खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन सहायक आयुक्त औषधि लखनऊ बृजेश कुमार व औषधि निरीक्षक माधुरी सिंह की टीम और एसटीएफ ने जॉइंट ऑपरेशन को अंजाम दिया। ये लोग तस्करी का पेमेंट बिटक्वाइन के जरिये हवाला के माध्यम से लेते हैं। 
गिरफ्तार अभियुक्तों में यासिर जमील खान उर्फ फैजी, निवासी दुगार्पुरी कालोनी निलमथा कैन्ट लखनऊ और हमजा निवासी 424 / 86 महबूबगंज सहादतगंज लखनऊ के है। पूछताछ में गिरोह के मास्टरमाइंड यासिर ने बताया कि हमजा एवं इमामुल हक उर्फ इनाम से मेरी दोस्ती 2021 में हुई। यह लोग प्रतिबन्धित दवा ट्रामाडोल व लाइपिन-10 की यूएसए में तस्करी करते हैं।

इन लोगो ने मुझे बताया कि दवाओ का एक पत्ता भारत में 30-40 रुपये में मिलता है जिसमें 10 गोली होती है। जिसे यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका में अगर आप हमारे दिये हुये पते पर पहुँचा देंगे तो आपको प्रत्येक पत्ते का 600 से 700 रुपये हम लोग देंगें। इसके बाद आरोपी  दिये गये पते पर आर्डर के अनुसार सिपमैक्स कोरियर कम्पनी के माध्यम से कोरियर कर उपरोक्त दवाएं भेजने लगे। इन लोगों ने प्रतिबंधित दवाओं के सैंकड़ों आर्डर अमेरिका भेजे हैं।

Previous Post Next Post