वंदे भारत में ओवैसी पर हुए पथराव का रेलवे ने किया खंडन, बताई पत्थर कि वजह

वडोदरा (मानवी मीडिया): गुजरात रेलवे पुलिस ने एआईएमआईएम के इस दावे का खंडन किया है कि सूरत की ओर जा रही वंदे भारत ट्रेन पर पथराव किया गया, जिसमें उनके पार्टी के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी यात्रा कर रहे थे। एआईएमआईएम के प्रवक्ता वारिस पठान ने सोमवार शाम आरोप लगाया कि जब पार्टी के असदुद्दीन ओवैसी वंदे भारत ट्रेन में अहमदाबाद से सूरत की यात्रा कर रहे थे, तो उस कोच पर पथराव किया गया, जिसमें ओवैसी बैठे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि इसे एआईएमआईएम नेता को चोट पहुंचाने के लिए किया गया। पार्टी द्वारा सार्वजनिक रूप से आरोप लगाने के तुरंत बाद, गुजरात रेलवे पुलिस ने इसकी जांच शुरू की।

पुलिस उपाधीक्षक डी.एच. गौर ने मीडियाकर्मियों को बताया कि अंकलेश्वर और सूरत के बीच ट्रैक पर रेलवे का काम चल रहा है। जब वंदे भारत दक्षिण की ओर बढ़ रही थी, उसी समय पश्चिम एक्सप्रेस उत्तर की ओर बढ़ रही थी, तभी कंपन के कारण एक पत्थर कोच की खिड़की से टकरा गया। अधिकारी ने कहा कि आसपास को निवास भी नहीं है। इसलिए किसी भी गुंडागर्दी का संदेह नहीं है। जांच से पता चलता है कि न तो कोई घायल हुआ और न ही बदला लेने के इरादे से कोई साजिश रची गई। रेल विभाग के सूत्रों ने बताया कि पत्थर सीट संख्या ई1-25 के बगल की खिड़की पर लगा था, जबकि ओवैसी ई1-21 पर बैठे थे।

Previous Post Next Post