यूपी के विकास में संत समाज निभाएगा जिम्मेदारी

 



लखनऊ:
 (मानवी मीडियाउत्तर प्रदेश के सर्वांगीण और चहुंमुखी विकास में संत समाज बड़ी भूमिका निभाने का तैयार है। यह समाज अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए आगे बढ़ना चाहता है। प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिए जन- जन के बीच योग, साधना और आध्यात्मिक प्रचार- प्रसार भी आवश्यक है। आध्यामिक गुरु देवेंद्र मोहन उर्फ भैया जी के साथ मुख्यमंत्री आवास पर हुई औपचारिक भेंटवार्ता में माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कहा कि संत समाज को अपने दायित्वों का पालन करना है।

सीएम योगी से मुलाकात के दौरान देवेंद्र मोहन ने उन्होंने प्रदेश में सुशासन की बधाई दी। उनके साथ में पूरनपुर विधायक बाबूराम पासवान, बरखेड़ा विधानसभा के सम्मानित पीठाधीश्वर एवं विधायक स्वामी प्रवक्तानंद, पीलीभीत के समाजसेवी सम्मानित अमृतलाल भी मौजूद रहे। वर्तमान में उत्तर प्रदेश एक ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। धर्मनगरी के रुप में अयोध्या, काशी और मथुरा का बहुमुखी विकास हो रहा है। धार्मिक स्थलों के विकास से प्रदेश में पर्यटन के नए मार्ग खुल रहे हैं। धार्मिक पर्यटन विकास का एक बड़ा वाहक बनने को तैयार है।

मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति को केंद्र में रखकर नई नीति भी घोषित की है। ऐसे में लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए अथक श्रम के साथ निरंतर ऊर्जा का संचार योग, साधना और आध्यात्म के जरिए ही हो संभव है। सीएम योगी आदित्यनाथ जी के साथ हुई सारगर्भित चर्चा के बाद आध्यात्मिक गुरु देवेंद्र मोहन भैया और विधायक स्वामी प्रवक्तानंद ने कहा कि उत्तर प्रदेश का संत समाज प्रदेश के सर्वांगीण विकास में अपनी जिम्मेदारियों लिए प्रतिबद्ध है।
Previous Post Next Post