अनुसूचित जाति के छात्र-छात्राओं के लिए बनाए जाएंगे हॉस्टल


लखनऊ (
मानवी मीडिया उत्तरप्रदेश में अनुसूचित जाति के (एससी) छात्र-छात्राओं के लिए छात्रावास बनाए जाएंगे. इसके लिए समाज कल्याण विभाग की ओर से कार्ययोजना तैयार की जा रही है. ये काम प्रधानमंत्री अनुसूचित जाति अभ्युदय योजना (पीएम अजय) के तहत मंजूर किए जाएंगे. प्रयास है कि 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले यह योजना जमीन पर दिखने लगे. इन छात्रावासों के निर्माण से छात्र-छात्राओं को बड़ी राहत मिलेगी. साथ ही इन हॉस्टल में आवश्यक सेवाएं भी उपलब्ध कराने की कार्ययोजना है.

यूपी के 6171 गांव किए गए चिन्हित 

केंद्र सरकार ने पीएम अजय योजना के तहत यूपी के 6171 गांव चिह्नित किए हैं. ये वे गांव हैं, जिनमें अनुसूचित जाति की आबादी 50 प्रतिशत या उससे अधिक है. पहले चरण में इस योजना में उत्तरप्रदेश के 750 गांवों में काम हो रहा है. इस योजना के अंतर्गत ही बालक और बालिकाओं के लिए अलग-अलग छात्रावास बनाए जाएंगे. प्रत्येक छात्रावास में न्यूनतम 50 विद्यार्थियों के रहने व खाने की व्यवस्था होगी. इनमें सभी आवश्यक सेवाओं के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर मुहैया कराया जाएगा.

पीएम अजय योजना के तहत बनेंगे छात्रावास 

केंद्र व राज्य सरकार के अधीन आने वाले विश्वविद्यालयों और शिक्षण संस्थानों में जगह उपलब्ध होने पर छात्रावास निर्माण के लिए प्राथमिकता दी जाएगी. इसके अलावा उन क्षेत्रों को भी प्राथमिकता पर रखा जाएगा, जिसमें एससी छात्रों की संख्या ठीक ठाक होगी. इस योजना की खास बात यह है कि शत-प्रतिशत खर्च केंद्र सरकार ही उठाएगी. प्रमुख सचिव, समाज कल्याण डॉ. हरिओम ने बताया कि छात्रावास निर्माण के लिए कार्ययोजना तैयार की जा रही है.

Previous Post Next Post