बुझने के बाद प्रिंस मार्केट बिल्डिंग में दोबारा लगी आग, ड‍िप्‍टी सीएम ब्रजेश पाठक पहुंचे


लखनऊ, (
मानवी मीडिया हजरतगंज में प्रिंस कांप्लेक्स में गुरुवार सुबह आग लग गई। आग पहले तल पर स्थित आरओ वाटर प्यूरीफायर के दफ्तर में शार्ट सर्किट से लगी। कुछ ही देर में आग दूसरे और तीसरे तल पर भी पहुंच गई। विकराल लपटें और धुआं पूरी मार्केट में फैल गया। इस दौरान कांप्लेक्स में करीब 80 लोग अपने आफिसों में थे। जान बचाने के लिए वह भागकर छत पर पहुंच गए और चीख पुकार करने लगे। इस बीच दमकल और पुलिस कर्मी पहुंचे। सूचना मिलते ही एसडीआरएफ (राज्य आपदा मोचन बल) और स्वास्थ्य विभाग से सुरक्षा के दृष्टिगत 10 से अधिक एंबुलेंस और मेडिकल टीम पहुंच गईं। पुलिस और दमकल कर्मियों ने छत पर फंसे लोगों को पीछे के रास्ते सीढ़ी से सुरक्षित निकाल लिया गया।

थोड़ी देर बाद दूसरे तल पर लगी आग 

दमकल कर्मियों ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया। आग बुझाने के बाद दमकल और पुलिसकर्मी घटनास्थल से निकले ही थे कि इस बीच दोबारा दूसरे तल पर स्थित एक आफिस में आग लग गई। यहां फाइलों का गट्ठर और फर्नीचर जलने लगा। हालांकि घंटे भर की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया। आग से कोई हताहत नहीं हुआ है। घटना की जानकारी पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक, जेसीपी कानून व्यवस्था पीयूष मोर्डिया समेत अन्य आलाधिकारी पहुंचे मौका मुआयना किया। उत्तर प्रदेश आदर्श व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष संजय गुप्ता पहुंचे। व्यापारियों से मिले।

दो आफ‍िस भी आग की चपेट में 

गोमतीनगर विस्तार के रहने वाले चंद्रमल प्रसाद के आरओ के आफिस से गुरुवार सुबह धुआं और आग की लपटें निकलती देख मार्केट के लिफ्टमैन रामनरेश ने शोर मचाना शुरू कर दिया। आग ने विकराल रूप ले लिया। पड़ोस स्थित इंवर्टर बैटरी की दुकान भी चपेट में आकर चलने लगी। आग की लपटें दूसरे और तीसरे तल पर पहुंच गई। दोनों तलों पर दो-दो आफिस आग की चपेट में आ गए और जलने लगे। तीसरे तल पर डीएस फाइनेंस के आफिस में कर्मचारी अजय यादव और शिवा पूजा कर रहे थे। इसके अलावा एक टेलीकालिंग और कुछ अन्य आफिसों में करीब 70 से 80 कर्मचारी काम कर रहे थे।

आग में फंसे कोच‍िंग के छात्र 

वहीं, एक कोचिंग के दो से तीन छात्र भी फंस गए। अजय और शिवा ने बताया कि सभी कर्मचारी आफिसों से बाहर निकले तो धुएं के कारण कुछ दिखाई नहीं दे रहा था। सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। लोग खांस रहे थे। पीछे की ओर भागे तो कुछ लोग लड़खड़ा कर गिर गए। किसी तरह लोग ऊपर भागे और छत पर पहुंच गए। आग की लपटें और विकराल हो उठीं। छत पर पहुंचे लोग चीख-पुकार कर रहे थे।

इस बीच हजरतगंज फायर स्टेशन से एफएसओ रामकुमार रावत, एडीसीपी राजेश श्रीवास्तव, एसीपी अरविंद कुमार वर्मा, इंस्पेक्टर हजरतगंज अखिलेश पहुंचे। दमकल कर्मियों ने फायर फाइटिंग शुरू की। फायर कर्मी राजेश और शिव बाबू पटेल ने कांप्लेक्स के पीछे लगे हौज पाइप को चालू करने का प्रयास किया तो उससे पानी नहीं निकला। वहीं, मार्केट में लगे सभी फायर एस्टिंगुशर व अन्य उपकरण भी कंडम हालत में पड़े थे। दमकल कर्मी और पुलिस कर्मी आनन फानन पीछे के जीने के रास्ते छत पर पहुंचे। इसके बाद छत पर फंसे लोगों को सुरक्षित निकाला। सभी ने राहत की सांस ली।

दमकल कर्मी सीढ़ी के रास्ते पहले तल पर पहुंचे और फायर फाइटिंग शुरू की। तीसरे तल पर स्थित एक आफिस में आग विकराल थी। उसका शटर नहीं खुल रहा था। एसडीआरएफ के जवान इंस्पेक्टर चंद्रेश्वर की अगुवाई में पहुंचे। उन्होंने कटर से शटर का ताला काटा। इसके बाद एक लोहे की अलमारी धधक रही थी। उस पर पानी डालकर आग पर काबू पाया गया। कटर से जवानों ने अलमारी काटी। करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पा लिया। जेसीपी कानून व्यवस्था पीयूष मोर्डिया ने बताया कि आग से कोई हताहत नहीं हुआ है। आशंका है कि आग शार्ट सर्किट के कारण लगी थी। समय रहते आग पर काबू पा लिया गया था। आग के कारणों की जांच की जा रही है।

Previous Post Next Post