लोकसभा उपचुनाव: पल्लवी पटेल ने आखिर क्यों कहा कि मैं तो प्रतीक्षा सूची में हूं?


कौशांबी  (
मानवी मीडिया सिराथू विधानसभा सीट पर समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़कर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को चुनाव में हराकर पल्लवी पटेल ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं. इस परिणाम ने उनका राजनीतिक कद भी ऊंचा कर दिया था. लेकिन, मैनपुरी उपचुनाव में डिंपल यादव के प्रचार के लिए पार्टी द्वारा नहीं बुलाए जाने पर उन्होंने नाराजगी जताई है. पल्लवी पटेल ने तंज कसते हुए कहा कि मुझे अभी तो प्रतीक्षा सूची में रखा गया है. उन्होंने कहा है कि मैनपुरी के प्रचार में मेरी जरूरत है या नहीं, यह पार्टी नेतृत्व और संगठन को तय करना है.

पल्लवी पटेल ने कहा है कि समाजवादी पार्टी का नेतृत्व अगर चाहेगा तो मैनपुरी में प्रचार करने के लिए जरूर जाऊंगी. लेकिन, पार्टी लीडरशिप ने फिलहाल मुझे वेटिंग में ही डाल रखा है. उन्होंने उम्मीद जताई है कि पार्टी नेतृत्व इस मामले में उचित समय पर कोई फैसला जरूर लेगा. पल्लवी पटेल ने यह भी कहा है कि पार्टी नेतृत्व को मेरी क्षमता के बारे में जानकारी है और हो सकता है कि वह किसी खास मौके का इंतजार कर रहा हो.

पल्लवी पटेल ने व्यंगात्मक लहजे में कहा कि हो सकता है कि नेतृत्व मुझे कोई एक ऐसा वार करने के लिए भेजें जिसका जबरदस्त असर देखने को मिले. उन्होंने कहा है कि पार्टी नेतृत्व और संगठन का जब निर्देश होगा तभी प्रचार के लिए जाऊंगी. उन्होंने कहा है कि मैं खानापूर्ति में कतई यकीन नहीं रखती हूं. पल्लवी पटेल ने कहा कि मेरे चुनाव प्रचार में डिंपल यादव खुद आई थीं. इसलिए मुझे भी मैनपुरी जाना चाहिए था, लेकिन पार्टी नेतृत्व के कहे बिना जाना उचित नहीं होगा.

पल्लवी पटेल ने कहा मैं भविष्यवक्ता तो नहीं जो बता सकूं कि उपचुनाव नतीजे क्या आएंगे. लेकिन, मेरी इच्छा है कि जिन तीन जगहों पर उपचुनाव हो रहे हैं. उन सीटों पर समाजवादी पार्टी और गठबंधन के सहयोगी दल को बड़ी जीत मिले और बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़े. हालांकि, चुनाव प्रचार के लिए मैनपुरी नहीं भेजे जाने पर पल्लवी पटेल ने खुलकर तो विरोध नहीं जताया है, लेकिन इशारों में अपनी नाराजगी जरूर जताई है.

Previous Post Next Post