सरकारी अस्पतालों की दवाईयों को खुले बाजार में बेचने वाले गिरोह के एक सदस्य गिरफ्तार। भारी मात्रा में सरकारी दवाईयाँ बरामद।

 

लखनऊ (मानवी मीडिया)सरकारी अस्पतालों की दवाईयों को खुले बाजार में बेचने वाले गिरोह के सक्रिय सदस्यांे को किया गया गिरफ्तार। भारी मात्रा में सरकारी दवाईयाँ बरामद।

दिनांक 24-11-2022 को एस0टी0एफ0 उ0प्र0 को सरकारी अस्पतालों की दवाईयों को खुले बाजार में बेचने वाले गिरोह के 03 सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके पास से भारी मात्रा में सरकारी दवाईयाँ बरामद करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।

गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः-

1- रजनीश कुमार पुत्र  कृष्ण निवासी-बसारा, थाना महोली, जनपद सीतापुर वर्तमान पता-निशांत वर्मा का किराये का मकान, 60 फिट रोड, त्रिवेणी नगर, लखनऊ।

2- नितिन बाजपेयी पुत्र प्रवीन कुमार बाजपेयी निवासी हुमायूपुर, थाना मिश्रिख, जनपद सीतापुर वर्तमान पता किराये का मकान (प्रतिभा शुक्ला का) कृष्णा कालोनी रायपुर, थाना मडियांव, जनपद लखनऊ।

3- प्रियांशू मिश्रा पुत्र  कौशल मिश्रा निवासी सधनपुर, थाना अटरिया, जनपद सीतापुर वर्तमान पता मामा कालोनी, फैजुल्लागंज, थाना मडियांव, जनपद लखनऊ।

बारामदगी- 

1- Cap Lycodox (MARC), 1 Box 15 strip 90 Tab, Mucinac 600 mg (cipla), 10 strip 100 Tab, AToZ-Gold (ALKEM), 10 strip 300 tab, Rapilif-D 8 New 3 Box 300 Tab, Gemcal-D3 (ALKEM) 1350 Tab, Syrup Uprise-D3-60K (ALKEM) , 14 Box (56 Syrup), Foracort 400 Rotacaps (Cipla Ltd) 10 Box (10X30 capsules=300 Capsules), TELMIKIND-AM (Mankind) 5 Box (30 StripX10=300 Tablets), Seroflo 250 inhaler 17 pieces/Boxes, Dutalfa 0.5 mg/10mg 01 Box (10 stripesX20-Tab/Cap=200 Tab/Cap), Merrobe injection 1g (Glenmark) 01 Box (10 units), Tab Dirifa 400 mg (ABBOTT) 01 Box (10 stripx10 tablets= 100 tablets), Cap- Dutas T 0.4 mg/0.5mg (Dr.Reddy Lab ltd) 05 Box (05 stripx15Cap= 75 Cap), Tab Calten D-500 (Ipca lab ltd) 04 Box (20 stripx15 tablets= 300 tablets), Tab Chymoral Fort (Torrent Pharma ltd) 02 Box (19 stripes X 20 Tab=380 tab), Tab Turbovas-F (MICRO Labs Ltd) 01 Box (10 stripx10 tablets= 100 tablets), Cap-VIZYLAC RICH (Torrent Pharma ltd) 02 Box (02 stripx10 tablets= 20 tablets), Tab Bispec-5 (Dr. Reddy”s) 02 Box (20 Strip X 15 Tab= 300 Tab), Seroflo 250 Rotacaps 22 pieces/Boxes, Tab Calten D-500 (Ipca lab ltd) 03 Box (15 stripx15 tablets= 225 tablets), HCQS-300 (Ipica Lab Ltd) 02 Box (20 stripesX 10Tab= 200 Tab), Nicoduce 5 (Abbott lab ltd) (4 Box X 10 = 40 Pieces), Febustat 40 (Abbott) 02 Box(30 Stripes =450 Tab), Lanum (Larenon lab ltd) 04 Box (40 stripesX 10 Tab= 400 Tab), Urimax-D (Cipla lab ltd) 01 Box (10 stripesX 15 Tab= 150 Tab), Tab Melmet 1000SR  (MICRO lab ltd) (10 stripes X 15Tab= 150 Tab), Urimax 0.4 Capsules (28 StripsX20 Capsules=560 capsules), Dytor 20 (Cipla lab ltd) 01 Box (42 stripesX 15Tab= 630 Tab) 

2- 03 अदद मोबाईल फोन,

2- एक अदद आई0डी0 कार्ड के०जी०एम०यू०

3- 02 अदद एटीएम कार्ड

4- एक अदद स्कूटी यूपी 32 एम0आर0 6652

5- एक अदद पेन कार्ड

6- एक अदद मोटरसाईकिल

7- एक अदद आधार कार्ड

8- नगद 3860 रूपये मात्र

9- सरकारी मेडिसिन तीन बडे थैले मे (कीमत लगभग दो)

गिरफ्तारी का स्थान, दिनंाक व समयः-

नियाज फ्लावर मर्चेन्ट के सामने रोड पर निकट चौक ओवर ब्रिज फूल मण्डी, चौक लखनऊ। दिनांक 24-11-2022 समय 15ः30 बजे।

विगत काफी दिनों से एस0टी0एफ0 उ0प्र0 को मरीजों के लिए किंग जार्ज मेडिकल युनिवर्सिटी (के0जी0एम0यू0) में स्थापित कम कीमत की फार्मेसी दुकानों की दवाओं को कूटरचना कर बाजार में ऊँची कीमत पर बेचने वाले गिरोह के सक्रिय होने की सूचनाएं प्राप्त हो रहीं थी। इस सम्बन्ध में एस0टी0एफ0 की विभिन्न  इकाईयों/टीमों को अभिसूचना संकलन कर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था, जिसके क्रम में श्री अमित कुमार नागर, अपर पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ, उ0प्र0, लखनऊ  द्वारा उपनिरीक्षक वीरेन्द्र यादव के नेतृत्व में एसटीएफ मुख्यालय में एक टीम का गठन कर अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी।

दिनांक 24-11-2022 को अभिसूचना संकलन के माध्यम से ज्ञात हुआ कि जनपद लखनऊ में एक गिरोह सक्रिय है, जो सरकारी अस्पतालों की कम कीमत की दवाओं के रैपर पर लिखी सरकारी मोहर को कूटरचित कर शहर के विभिन्न मेडिकल स्टोर पर ऊँची कीमत पर बेच कर धानार्जन कर रहे हैं। इस गिरोह के कुछ सदस्य लखनऊ शहर के नीबूं पार्क के पास आकर सरकारी अस्पतालों की  फार्मेसी की दवाओं का लेन-देन करने वाले हैं। अगर आप लोग जल्दी करें तो पकड़ सकते हैं। मुखबिर की सूचना पर तत्काल उ0नि0 विरेन्द्र सिंह यादव, मय हमराही हे0का0 राजेश मौर्य, हे0का0 अन्जनी यादव, हे0का0 सन्तोष सिंह, हे0का0 अशोक कुमार गुप्ता, का0 अशोक राजपूत, का0 विजय वर्मा, का0 कौशलेन्द्र प्रताप सिंह, चालक विष्णु कुमार सिंह, चालक का0 रईस अहमद की एक टीम गठित कर ड्रग इन्सपेक्टर  सौरभ दुबे व निलेश शर्मा को साथ लेकर मुखबिर के बताये गये स्थान पर पहुँच कर उसकी निशादेही पर उपरोक्त अभियुक्तों को आवश्यक बल प्रयोग कर गिरफ्तार कर लिया गया, जिनके पास से उपरोक्त बरामदगी की गयी। 

गिरफ्तार अभियुक्त रजनीश कुमार ने पूछताछ में बताया कि वह किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (के0जी0एम0यू0) में रिवाल्विंग फंड (एच0आर0एफ0) की फार्मेसी दवा की दुकान पर आउटसोर्स संविदा पर फार्मेसिस्ट सेल्समैन का काम पिछले तीन वर्षों से कर रहा है। के0जी0एम0यू0 के एच0आर0एफ0 फार्मेसी दवा की दुकान पर के0जी0एम0यू0 के रजिस्टर्ड मरीजों को 50-60 प्रतिशत छूट पर बिक्री की जाती है। मरीजों के यू0एच0आई0डी0 रजिस्टर्ड नम्बर की जानकारी करके उनके नाम पर वह तथा के0जी0एम0यू0 के अन्य फार्मेसी दवा दुकानों पर तैनात उसके कई साथी छूट की दवाओं जिन पर for KGMU, HRF only लिखा रहता है, को अपने साथियों  नितिन बाजपेयी, प्रियांशु मिश्रा, सूरज मिश्रा, सुग्रीम वर्मा के सहयोग से for KGMU, HRF onlyको मिटाकर इनको सुग्रीम वर्मा की मदद से मेडिकल स्टोरों को उनका 30 प्रतिशत कमीशन रखते हुए बेंच देते हैं, जिसे वह आगे पूरी कीमत पर बेचकर धनार्जन कर आपस में बांट लेते हैं। 

गिरफ्तार अभियुक्तों ने मजीद पूछताछ पर बताया कि के0जी0एम0यू0 मेें ट्रामा सेन्टर एच0आर0एफ0 की दवा दुकान पर तैनात महेश प्रताप सिंह तथा अनूप मिश्रा प्लास्टिक सर्जरी, के0जी0एम0यू0, एच0आर0एफ0 की दवा दुकान पर तैनात देवेश मिश्रा, गांधी वार्ड, के0जी0एम0यू0, एच0आर0एफ0 की दवा दुकान के उदय भान एवं हमशे प्रियांशु मिश्रा का बड़ा भाई सूरज मिश्रा भी हम लोगों के साथ यही कार्य करते हैं तथा प्राप्त धन को आपस मे हम लोग बांट लेते हैं। हम लोग यह कार्य पिछले 03-04 वर्षों से करके धन कमा रहे हैं। के0जी0एम0यू0 व एच0आर0एफ0 की दवा दुकानों पर तैनात हमारे उपरोक्त साथी इस प्रकार हड़पी गयी दवाओं को अन्य मरीजों की UHID रजिस्टर्ड नम्बर रिकार्ड मेन्टेन कर देते हैं।

पूछताछ पर प्रकाश में आये अन्य अभियुक्तों के गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। गिरफ्तार अभियुक्तों को कोतवाली चौक, कमिश्नरेट लखनऊ में उनके विरूद्ध धारा 409/420/467/468 एवं 471 भा0द0वि0 का अभियोग पंजीकृत कराया जा रहा है। अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जायेगी।

Previous Post Next Post