लखनऊ विश्वविद्यालय से अलग हुए आयुर्वेद व यूनानी कॉलेज

लखनऊ (मानवी मीडिया): सरकारी आयुर्वेदिक कॉलेज व अस्पताल और लखनऊ के सरकारी यूनानी कॉलेज को लखनऊ विश्वविद्यालय (एलयू) से अलग कर दिया गया है। दोनों कॉलेज अब आयुष विश्वविद्यालय गोरखपुर से संबद्ध होंगे।

बुधवार को हुई एलयू कार्यकारी परिषद की बैठक में इस आशय का निर्णय लिया गया।

एलयू के रजिस्ट्रार संजय मेधावी ने कहा कि यूपी सरकार ने कहा है कि राज्य के सभी आयुर्वेद, यूनानी और होम्योपैथी कॉलेज अब आयुष विश्वविद्यालय से संबद्ध होंगे।

उन्होंने कहा कि एलयू ने कॉलेजों को सूचित कर दिया है कि वहां प्रवेश लिए सभी नए विद्यार्थियों को आयुष विश्वविद्यालय से डिग्री मिलेगी।

उन्होंने कहा कि परीक्षा आयोजित करने की जिम्मेदारी अब आयुष विश्वविद्यालय की होगी। चिकित्सा शिक्षा में एलयू अब फार्मेसी, योग और वैकल्पिक चिकित्सा की शिक्षा देगा।

Previous Post Next Post