दीपोत्सव की तर्ज पर तीन दिवसीय रामोत्सव का शुभारंभ


अयोध्या (मानवी मीडिया
दीपोत्सव की तर्ज पर रामनगरी में तीन दिवसीय रामोत्सव का शुभारंभ शनिवार को हुआ। अखिल भारत जयगुरू संप्रदाय के आचार्य किंकर विठ्ठल रामानुज महाराज व श्रीरामजन्मभूमि के मुख्य अर्चक आचार्य सत्येंद्र दास ने उत्सव का शुभारंभ किया।

किंकर विट्ठल महाराज ने कहा कि श्री सीतारामदास ओंकारनाथ एक प्रमुख भारतीय वैष्णव संत थे। 19 वीं शताब्दी के भक्ति पंथ आध्यात्मिक प्रकाशमान थे और भारत के पश्चिम बंगाल राज्य के एक अद्वितीय मानवतावादी थे। कार्यक्रम के संयोजक प्रियानाथ चट्टोपाध्याय ने बताया की पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भगवान श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या में कार्यक्रम की सफलता के लिए शुभकामना संदेश प्रेषित की है।

उन्होंने बताया कि सात नवंबर को लेजर शो होगा व एक लाख दीप सुरसरि मंदिर में जलाए जाएंगे। शत्रुघ्न निवास के महंत पवन कुमार शास्त्री और महंत दिलीप दास ने श्रीराम और भरत मिलन पर मार्मिक चर्चा की। वहीं श्यामसुंदर बंदो बैंड की सुमधुर ताल ने सबको मंत्रमुग्ध कर दिया।

कार्यक्रम का समापन भगवान श्री राम के भजन से हुआ। मौके पर विहिप के दिनेश चंद्र शर्मा, महंत करूणानिधान शरण, महंत परशुरामदास दास, आईएएस आशुतोष कुमार द्धिवेदी, आईएएस, वी ललिता लक्ष्मी, प्रख्यात भजन गायिका मीता पंडित, इंद्राणी चट्टोपाध्याय सहित सैकड़ों मौजूद रहे।
Previous Post Next Post