बीएसएफ ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 221 तोतों को तस्करी से बचाया

नई दिल्ली (मानवी मीडिया): सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने दक्षिण बंगाल के नादिया में भारत-बांग्लादेश की अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास वन्य पक्षियों की तस्करी को नाकाम करते हुए 221 तोतों को बचाया। इस पूरी कार्यवाही को दो अलग अलग जगहों पर अंजाम दिया गया। इन पक्षियों की बांग्लादेश से भारत में तस्करी की जा रही थी। बीएसएफ की तरफ से ये जानकारी दी गई है। बीएसएफ ने बताया कि जवानों ने दो अलग अलग ऑपरेशन में 221 तोतों को तस्करों के चंगुल से आजाद करवाया है।

जानकारी के मुताबिक पहली घटना दक्षिण बंगाल सीमांत के अंतर्गत सीमा चौकी बेताई इलाके की है। शनिवार को ड्यूटी पर तैनात जवानों ने देखा कि बांग्लादेश की तरफ से कुछ तस्कर तारबंदी के ऊपर से सामान फेंक रहे थे। उसी समय जवानों ने उनका पीछा किया, लेकिन वो घने अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले। बीएसएफ जवानों ने घटनास्थल पर छानबीन की तो वहां पिंजरों में हरे, पीले और सफेद रंग के कुल 128 तोते मिले, जिन्हें जप्त कर लिया गया।

वहीं एक और अन्य घटना में सीमा चौकी रांगियापोटा इलाके में बीएसएफ के जवानों ने 93 लवबर्डस जब्त किए हैं। बीएसएफ ने बताया कि तस्कर इन वन्य पक्षियों को भारत से बांग्लादेश ले जाने वाले थे। फिलहाल आगे की कार्यवाही के लिए सभी छुड़ाए गए पक्षियों को स्थानीय वन विभाग को सौंप दिया गया है। गौरतलब है कि भारत-बांग्लादेश की सीमा पर मवेशियों और पक्षियों की तस्करी भी लगातार बढ़ती जा रही है। इसे रोकने के लिए बीएसएफ के जवानों ने अतिरिक्त सतर्कता भी बढ़ाई है।

Previous Post Next Post