डिजिटल रुपये से लेनदेन को लेकर रिजर्व बैंक का बड़ा ऐलान, 1 दिसंबर से मिलेगी यह सुविधा,

नई दिल्ली(मानवी मीडिया)- भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने डिजिटल मुद्रा – ‘डिजिटल रुपया’ को लेकर बड़ा एलान किया है। आरबीआई ने ऐलान करते हुए कहा कि वह एक दिसंबर को खुदरा डिजिटल रुपये के लिए पहली खेप लॉन्च करेगी। E₹-Rएक डिजिटल टोकन के रूप में होगा। यह कानूनी निविदाओं का प्रतिनिधित्व भी करेगा।

रिज़र्व बैंक ने 1 दिसंबर, 2022 को खुदरा डिजिटल रुपये का पहला पायलट लॉन्च करने की घोषणा की है। इससे पूर्व आरबीआई ने 31 अक्टूबर, 2022 की एक प्रेस विज्ञप्ति में संकेत दिया था कि खुदरा डिजिटल रुपये का पायलट प्रोजेक्ट एक महीने में शुरू होगा। आरबीआई ने यह भी बताया कि डिजिटल रुपया उसी मूल्यवर्ग में जारी किया जाएगा जिसमें वर्तमान में कागजी मुद्रा और सिक्के जारी किए जाते हैं।

चुनिंदा जगहों पर शुरू होगा पायलट प्रोजेक्ट

आरबीआई ने एक बयान में कहा, ‘यह पायलट प्रोजेक्ट ग्राहकों और व्यापारियों के साथ क्लोजर यूजर ग्रुप (CPU)को कवर करेगा। यह पायलट प्रोजेक्ट कुछ चुनिंदा जगहों पर ही होगा।’ यह डिजिटल रुपया इस समय जारी पेपर करेंसी और सिक्कों के मूल्य के अनुसार ही जारी होगा। यह डिजिटल करेंसी बैंकों के माध्यम से डिस्ट्रीब्यूट होगी।

यह सब्सिडियरीज यानी बैंकों के माध्यम से वितरित किया जाएगा। इसके उपयोगकर्ता बैंकों की ओर से उपलब्ध कराए गए एप के जरिए इसे खरीद सकेंगे और अपने मोबाइल फोन में सुरक्षित कर सकेंगे। इसमें व्यक्ति से व्यक्ति और व्यक्ति व व्यापारियों के बीच लेनदेन किया जा सकेगा। मर्चेंट् स्टोर पर लगे क्यूआर कोड का उपयोग करके व्यापारियों को भुगतान किया जा सकेगा।

डिजिटल वॉलेट से कर सकेंगे लेनदेन

केंद्रीय बैंक ने यह भी कहा कि ग्राहक डिजिटल रुपयों का लेनदेन डिजिटल वॉलेट के जरिए कर सकेंगे। यह डिजिटल वॉलेट बैंकों द्वारा ऑफर होगा और इसे मोबाइल फोन्स और दूसरे डिवाइसेज में रखा जा सकेगा।

ये बैंक होंगे शामिल

इस पायलट प्रोजेक्ट के लिए आठ बैंकों को चुना गया है, जो इसमें चरणबद्ध तरीके से भाग लेंगे। पहला चरण चार बैंकों से शुरू होगा। इनमें एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक शामिल होंगे। इसके बाद बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक इसमें शामिल होंगे।

इन शहरों में होगी शुरुआत

यह पायलट प्रोजेक्ट शुरुआत में चार शहरों को कवर करेगा। ये शहर मुंबई, नई दिल्ली, बेंगलुरु और भुवनेश्वर हैं। इसके बाद इस पायलट प्रोजेक्ट का विस्तार अहमदाबाद, गंगटोक, गुवाहाटी, हैदराबाद, इंदौर, कोचीन, लखनऊ, पटना और शिमला में होगा। इस प्रोजेक्ट का विस्तार धीरे-धीरे अन्य बैंकों, जगहों और यूजर्स के बीच होगा।

Previous Post Next Post