उ0प्र0 के सेवानिवृत्त पूर्व प्रमुख सचिव दीपक सिंघल को आईटी ने किया तलब

नई दिल्ली (मानवी मीडिया): आयकर विभाग (आईटी) ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव, सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी दीपक सिंघल को एक कथित कर चोरी मामले में जांच में शामिल होने के लिए तलब किया है। सिंघल को उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का काफी करीबी बताया जाता है और वह समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान मुख्य सचिव थे।

सूत्रों ने दावा किया है कि आईटी विभाग ने पुराने मामलों में भी जांच शुरू कर दी है, जिसमें सिंघल को आरोपी बनाया गया है।

सूत्र ने कहा, हमने ऑपरेशन ‘बाबू साहब’ शुरू किया, जिसमें सिंघल का नाम सामने आया। हमने पाया कि उसने कथित तौर पर दिल्ली, आगरा और नोएडा में 50 करोड़ रुपये का निवेश किया था। यह कथित रूप से धन शोधन था, जिसे रियल एस्टेट में निवेश किया गया था।

सूत्रों ने यह भी बताया कि हाल ही में विभाग ने कोलकाता के एक व्यवसायी से पूछताछ की और उससे पूछताछ के दौरान उन्हें सिंघल का लिंक मिला।

सिंघल 1982 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। सूत्रों के मुताबिक, उन्हें एक हफ्ते के भीतर जांच में शामिल होने को कहा गया है।

आयकर विभाग ने अभी तक इस संबंध में कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है।

Previous Post Next Post