उ0प्र0 में सवाल पूछने पर आरटीआई कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या

अलीगढ़ (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में ग्राम प्रधान और उनके बेटे समेत आठ लोगों ने क्षेत्र में चल रही सार्वजनिक परियोजनाओं की गुणवत्ता पर सवाल उठाने के आरोप में एक आरटीआई कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या कर दी। घटना में पीड़िता का भाई भी गंभीर रूप से घायल हो गया। पीड़ित परिवार ने पुलिस को बताया कि इगलास पुलिस सर्कल के गोराई गांव निवासी 32 वर्षीय देवजीत सिंह की उस समय हत्या कर दी गई जब वह और उसका भाई अपने खेत में काम कर रहे थे। पुलिस उपाधीक्षक राघवेंद्र सिंह ने कहा, शिकायत में नामजद प्रधान देवेंद्र सिंह, उनके बेटे कार्तिक और छह अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 147 (दंगा), 506 (धमकी), सहित विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। आरोपी फरार हैं। उन्हें गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

देवजीत के पिता महेंद्र सिंह ने कहा, मेरे बेटे ने दो महीने पहले ग्राम प्रधान द्वारा किए गए विकास कार्यों की गुणवत्ता के बारे में जानकारी मांगने के लिए एक आरटीआई दायर की थी। उसने गांव में निर्माण के लिए घटिया सामग्री का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए अधिकारियों के पास कई शिकायतें भी दर्ज कराई थी। उसी समय से हमें जान से मारने की धमकी मिल रही है। हमने देवेंद्र के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए पिछले महीने पुलिस से संपर्क किया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई।

मृतक के चाचा रामवीर सिंह ने कहा, ग्राम प्रधान और उसके रिश्तेदारों ने मेरे भतीजों पर लाठियों और धारदार हथियारों से हमला किया। मारपीट की बात सुनकर हम मौके पर पहुंचे। देवजीत के सिर पर गंभीर चोटें थीं और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। उनके छोटे भाई सुरेंद्र की हालत गंभीर है।

स्थानीय लोगों के अनुसार देवजीत खेती में अपने पिता का सहयोग करने के अलावा गांव में एक कंप्यूटर सेंटर चलाता था। उनके परिवार में उनकी 28 वर्षीय पत्नी और दो नाबालिग बच्चे हैं।

Previous Post Next Post