मंत्री जितिन प्रसाद और राज्य मंत्री मयंकेश्वर शरण सिंह की अध्यक्षता में कूड़ा प्रबन्धन, स्ट्रीट लाइट व्यवस्था एवं यातायात व्यवस्था के सम्बन्ध में बैठक

 

लखनऊ (
मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री  जितिन प्रसाद व परिवार कल्याण, मातृ एवं शिशु कल्याण राज्य मंत्री  मयंकेश्वर शरण सिंह की अध्यक्षता में आज  लखनऊ विकास प्राधिकरण सभागार में कूड़ा प्रबन्धन, स्ट्रीट लाइट व्यवस्था एवं यातायात व्यवस्था के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक आहूत की गई। बैठक में मंडलायुक्त डॉ रौशन जैकब, जिलाधिकारी लखनऊ  सूर्य पाल गंगवार व संयुक्त पुलिस आयुक्त  पीयूष मोर्डिया भी उपस्थित रहे। 

          बैठक में सर्वप्रथम लोक निर्माण मंत्री  जितिन प्रसाद द्वारा कूड़ा प्रबन्धन की समीक्षा की गई। लोक निर्माण मंत्री ने समीक्षा में कहा कि यदि लखनऊ में ही कूड़ा साफ नही हुआ तो अन्य स्थानों पर सम्भव नही है कि वहां पर्याप्त साफ सफाई हो सके। उन्होंने कहा कि लखनऊ प्रदेश की राजधानी है यहां पर पर्याप्त साफ सफाई और कूड़ा प्रबन्धन के विशेष इंतिज़ाम करना सुनिश्चित किये जाए ताकि अन्य जनपद भी लखनऊ को आदर्श मानकर अपने यहां की व्यवस्थाए सुनिश्चित करे। बैठक में उन्होंने निर्देश दिया कि कूड़ा उठान में लगी खराब गाड़ियों को बदलकर नयी गाडियां लगाई जाए और जिन गाड़ियों की रंगाई पुताई की आवश्यकता है उनको तत्काल रँगाई पुताई कराना सुनिश्चित किया जाए। जिसके सम्बन्ध में मण्डलायुक्त द्वारा  मंत्री महोदय को बताया गया कि गाड़ियों को बदलने और रँगाई पुताई कराने के पूर्व में ही निर्देश जारी किए जा चुके है। स्मार्ट सिटी और SBM में जो धनराशि प्राप्त हुई है उससे नई गाड़िया और नए उपकरण खरीदे जा रहे है। अगले सात दिनों में गाड़िया क्रय कर ली जाएगी। साथ ही जिन कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों में रँगाई पुताई की आवश्यकता है उनमें रँगाई पुताई कराई जा रही है। बैठक में मण्डलायुक्त द्वारा बताया गया कि  कूड़ा निस्तारण का कार्य अभी तक एक ही कम्पनी कर रही है उसे अब दो या तीन कम्पनियों में बांटकर कार्य कराया जाना चाहिये। 

       समीक्षा के दौरान राज्य मंत्री  मयंकेश्वर शरण सिंह ने कहा कि विगत् दिनों निर्माणाधीन एस0टी0पी0 स्टेशन के निरीक्षण के दौरान संज्ञान में आया कि कार्यदायी संस्था स्वेज इंडिया ने निर्माणस्थल पर लगे पेड़ काटे थे जिसके सम्बन्ध में कार्यदायी संस्था द्वारा काटे गए पेड़ो की संख्या के दो गुने पेड़ लगवाने के आश्वासन दिया गया था। परंतु अभी तक कार्यदायी संस्था द्वारा पेड़ नही लगाए गए जिसके लिए उन्होंने निर्देश दिए कि उनकी जगह दूसरे पेड़ लगाये गये है कि नहीं इसका सर्वे कराना सुनिश्चित किया जाए। यदि अभी तक पेड़ नही लगे है तो कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए। उक्त के साथ ही वाटर ट्रीटमेंट प्लांट की भी समीक्षा की गई। मा0 मंत्री महोदय ने कहा कि जो कम्पनी वाटर ट्रीटमेंट का कार्य कर रही है वह गुणवत्तापूर्ण नहीं है बिना पूर्ण रूप से ट्रीटमेंट कर गोमती में पानी डाला जा रहा है, जिससे गोमती नदी प्रदूषण मुक्त नहीं हो पा रही है। 

       बैठक में मा0 मंत्री महोदय द्वारा नगर आयुक्त से टैप किये हुए नालो की संख्या की जानकारी मांगी गई। नगर आयुक्त द्वारा बताया गया कि कुल 27 नाले टैप और 7 टैप नही है। जिसके सम्बन्ध में मा0 मंत्री महोदय ने कहा कि 27 जो टैप नाले है उनसे भी गंदा पानी आ रहा है। कुल 10% ही पानी ट्रीट हो पा रहा है। जिससे गोमती नदी प्रदूषित हो रही है। जिसके सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा नगर निगम को निर्देश दिया गया कि सभी टैप नालो का तत्काल क्वालिटी चेक कराना सुनिश्चित किया जाए। 

         उक्त के बाद बैठक में स्ट्रीट लाइट की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान मा0 मंत्री कहा कि आए दिन स्ट्रीट लाइटो के खराब होने की सूचना प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही निराशाजनक है कि सम्बन्धित विभाग द्वारा अपने कार्यो में लापरवाही बरती जा रही है। आगामी त्योहारो को देखते हुए तत्काल विभाग उक्त समस्या का निस्तारण कराना सुनिश्चित करें। मा0 मंत्री महोदय द्वारा नगर आयुक्त से कुल खराब स्ट्रीट लाइट की संख्या की जानकारी मांगी गई। नगर आयुक्त द्वारा बताया गया कि EESL कार्यदायी संस्था द्वारा स्ट्रीट लाइट का मेंटिनेंस किया जाता है। प्राप्त शिकायतों के अनुसार कुल 9000 स्ट्रीट लाइट खराब है। जिसके सम्बन्ध में EESL के पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि लखनऊ में लगभग 2,00,000 स्ट्रीट लाइटों के सापेक्ष अब केवल 7000 स्ट्रीट लाइट ही खराब है, खराब स्ट्रीट लाइटों को बदलने का कार्य कराया जा रहा है। समीक्षा के दौरान ज़िलाधिकारी द्वारा कार्यदायी संस्था से खराब स्ट्रीट लाइटों का सर्वे करने वाले लोगो की संख्या की जानकारी मांगी गई। कार्यदायी संस्था द्वारा बताया गया कि 20 लोगो की टीम के द्वारा रात में सर्वे कराया जाता है। जिसके लिए ज़िलाधिकारी द्वारा कड़े निर्देश दिए गए कि तत्काल सर्वे करने वाले लोगो की संख्या को बढ़ाया जाए और जो भी शिकायतें प्राप्त हो रही है उनको प्राथमिता पर लेते हुए उनको सही कराया जाए और सर्वे टीमो के द्वारा प्रतिदिन मॉनिटरिंग करते हुए सभी खराब स्ट्रीट लाइटों को सही करा जाए। साथ ही जो 7000 स्ट्रीट लाइट खराब है उनको दीपावली से पहले सही करना सुनिश्चित किया जाए। 

       उक्त के बाद बैठक में यातायात व्यवस्था की भी समीक्षा की गई। मण्डलायुक्त द्वारा बताया गया कि लखनऊ स्मार्ट सिटी कार्यक्रम के तहत 155 चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल लगाए गए है जिसका की कंट्रोल लखनऊ स्मार्ट सिटी लालबाग में किया गया है। इसमें 20 चौराहों पर ट्रैफिक इंफोर्समेन्ट सिस्टम यानी नियम का उल्लंघन करने वालो का ई चालान किया जाता है। यातायात व्यवस्था के सम्बन्ध में संयुक्त पुलिस आयुक्त ने बताया कि नगर के प्रमुख चौहारों पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस की ड्यूटी रहती है जिसे त्योहारो के दृष्टिगत 40 प्रतिशत बढ़ा दिया गया है। प्रत्येक दिन आनलाइन चालान किये जा रहे है।

        संयुक्त पुलिस आयुक्त द्वारा बताया गया कि प्रतिदिन ITMS से 1000 और ट्रैफिक पुलिस और पुलिस के द्वारा 2000 चालान किये जाते है। मा0 मंत्री महोदय द्वारा परमानेंट वयलेंटर (लगातार यातायात नियमो का उल्लंघन करने वालो) की संख्या और उन पर की गई कार्यवाही की जानकारी मांगी गई। संयुक्त पुलिस आयुक्त द्वारा बताया गया कि ऐसे उलंघन कर्ताओ के विरुद्ध 151 के अंतर्गत कार्यवाही की जा रही है। जिसके सम्बन्ध में मा0 मंत्री महोदय द्वारा कड़े निर्देश दिए गए कि यातायात व्यवस्था को बाधित करने वालो को कतई बख्शा नही जाए। ऐसे टॉप 5 उलंघन कर्ताओ को चिन्हित करते हुए 151 में मुकदमा दर्ज करते हुए कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए। संयुक्त पुलिस आयुक्त द्वारा बताया गया कि इसके साथ ही स्कूलों की टाइमिंग भी निर्धारित करा दी गई है और शराब के ठेको के पास लगने वाले जाम को देखते हुए चालान किये जा रहे है। साथ ही शराब की दुकानों के बाहर बेतरतीब गाड़ी खड़ी करने वालो पर 151 में मुकदमा भी दर्ज किया जा रहा है। 

         मण्डलायुक्त द्वारा बताया गया कि स्मार्ट सिटी के माध्यम से नए चौराहो को चिन्हित करते हुए उन पर सर्विलांस कैमरे लगाने का प्रस्ताव स्वीकृती हेतु भेजा जा चुका है। साथ ही शहर की कुछ चिन्हित रोडो को स्मार्ट रोड में परिवर्तित करने की योजना बनाई जा रही है। उक्त के साथ ही रोडो को गढ्ढा मुक्त करने के लिए लोक निर्माण विभाग को युद्धस्तर पर कार्य करने के निर्देश दिए गए है। ज़िलाधिकारी द्वारा लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिया गया कि रोडो को गड्ढा मुक्त करने के कार्य की प्रतिदिन मॉनिटरिंग करना सुनिश्चित किया जाए। 

बैठक में उपाध्यक्ष लखनऊ विकास प्राधिकरण, नगर आयुक्त, अपर नगर आयुक्त, अपर जिलाधिकारी नगर पूर्वी  व अन्य विभगीय अधिकारी उपस्थित रहे।

नोट- दीपावली के शुभ अवसर पर अपने व्यवसाय एवं संस्था के विज्ञापन/शुभकामना संदेश हेतु संपर्क करें मो0 98384 76221

Previous Post Next Post