सब्जियों ने निकाला आम जनता का दम, रेट आसमान पर

नोएडा (मानवी मीडिया): सब्जियों ने आम आदमी का दम निकल दिया है। त्योहारों का सीजन शुरू होते ही, जनता की परेशानियां भी बढ़ने लगती है। लोगों का बजट बिगड़ने लगता है। क्योंकि इस दौरान चाहे फल हो या सब्जियां सब के दाम आसमान पर होते हैं और कुछ ऐसा ही हो रहा है दिल्ली एनसीआर में भी। दिल्ली से सटे नोएडा की बात करें तो यहां पर सब्जी और फलों के रेट में सफल स्टोर और फुटकर रेडी विक्रेता की सब्जी के रेट में जमीन आसमान का अंतर देखने को मिल रहा है साथ ही साथ सब्जी विक्रेता यह बताते हैं कि उनको पीछे से ही सब्जी महंगी मिल रही है और रही सही कसर बीते दिनों हुई लगातार बारिश ने पूरी कर दी खेतों में पड़ी हुई सब्जियां सड़ गई जो मंडी तक और आम जनता तक नहीं पहुंच पाए, इसीलिए उनकी कीमत इतनी बढ़ चुकी है। दिल्ली एनसीआर में बने सफल स्टोर्स की अगर बात करें तो यहां पर रेट को पूरी तरीके से कंट्रोल में रखा जाता है। फिर भी यहां पर सब्जियों और फलों के दाम आसमान छूते दिखाई दे रहे हैं तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि बाहर रेडी पटरी पर मिल रही सब्जियां कितनी महंगी होंगी।

सफल स्टोर के रेट –

आलू – 20 रुपए प्रतिकिलो

गोभी – 98 रुपए प्रतिकिलो

बैंगन – 75 रुपए प्रतिकिलो

टमाटर – 56 रुपए प्रतिकिलो

मटर – 200 रुपए किलो

फुटकर विक्रेताओं के रेट

आलू – 25 से 30 रुपए प्रतिकिलो

गोभी – 100 रुपए प्रतिकिलो

बैंगन – 80 रुपए प्रतिकिलो

टमाटर – 50 रुपए प्रतिकिलो

मटर – 300 रुपए किलो

फुटकर विक्रेता सब्जी के बढ़े दामों के लिए बीते दिनों खराब मौसम को मानते हैं। सब्जी विक्रेताओं के मुताबिक लगातार हुई बारिश के चलते खेत में पड़ी सब्जियां सड़ गई। जो आम जनता तक नहीं पहुंच पाई उन्हीं की शॉर्टेज के चलते मार्केट का यह हाल हुआ है। सब्जी विक्रेताओं ने बताया कि साहिबाबाद में सबसे ज्यादा सब्जियों की खेती होती है और उसी से दिल्ली एनसीआर में ज्यादातर सब्जियां सप्लाई की जाती हैं।

सब्जियों के लगातार बढ़ते दाम से आम जनता परेशान है और जूझ रही है। फिलहाल किसी तरीके का कोई भी राहत मिलती दिखाई नहीं दे रही है।

नोट- दीपावली के शुभ अवसर पर अपने व्यवसाय एवं संस्था के विज्ञापन/शुभकामना संदेश हेतु संपर्क करें मो0 98384 76221

Previous Post Next Post