आकाश किशोर कि नशे के चक्र में फस कर दी गई तिलांजलि., नशा मुक्त भारत बनाने की शपथ

नशे को न मजबूत आत्म शक्ति के द्वारा ही संभव*..... कौशल किशोर 

लखनऊ (मानवी मीडिया) नशा मुक्त भारत अभियान कौशल का दो वर्ष पूर्ण होने तथा आकाश किशोर उर्फ जेबी की पुण्यतिथि के अवसर पर पूरे देश भर में गांव कस्बा मजरा सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूल मेडिकल तथा सरकारी व सार्वजनिक प्रतिष्ठानों में करोड़ों की संख्या में नशा मुक्त भारत बनाने की शपथ ली गई।

            जैसा की विधित है सांसद कौशल किशोर और विधायक जय देवी कौशल के पुत्र आकाश किशोर उर्फ़ जेबी की मृत्यु 19 अक्टूबर 2020 को नशे की वजह से  देश के अन्य युवकों को असामयिक मृत्यु से बचाने के लिए नशा मुक्त भारत अभियान शुरू किया । इस अभियान को जन जागरूकता से जोड़ते हुए  पूरे देश में करोड़ों लोगों ने नशा न करने का लिया संकल्प ।


          नशामुक्त समाज आन्दोलन अभियान कौशल का “ हिंदुस्तानियों नशा छोड़ो “ मुहिम का लगातार प्रचार प्रसार व रोज़ाना नशा न करने का सभी प्रदेशों में कहीं न कहीं हो रहे संकल्पों के कारण नयी पीढ़ी में  नशे के ख़िलाफ़ घृणा का भाव पैदा हो रहा है।

          स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को बचपन से ही नशे के कुप्रभाव को दिखा दिया जाए और यह बता दिया जाए कि किस प्रकार नशे के कुचक्र में फंस कर एक ही युवा अपने पूरे जीवन अपने परिवार के जीवन अपने समाज और देश का नुकसान करता है। नशे से कई जानलेवा बीमारियां होती हैं नशे को खरीदने में मेहनत से कमाई गई कमाई तो खर्च होती ही है यदि एक बार लीवर सिरोसिस, कैंसर जैसी गंभीर बीमारी हो जाए तो इलाज में पूरा घर बर्बाद हो जाता है बच्चों की पढ़ाई लिखाई रुक जाती है और पूरा सपरिवार दुख और अभाव के जीवन को जीने के लिए विवश हो जाता है। 

             आज लोग पूरे देश के शिक्षण संस्थानो में व सरकारी दफ़्तरों में व व्यापारियों व किसानों के बीच नशा करने वालों में भी यह चर्चा होने लगी है कि जब एक सांसद व विधायक अपने लड़के को नशे से शारीरिक आंतरिक अंग ख़राब होने पर उसकी ज़िंदगी नही बचा पाए तो आम आदमी  अपने बच्चों को या खुद अपनी ज़िंदगी को नशे से कैसे बचा पायेंगे ?.

             डर लोगों में तेज़ी से नशे के ख़िलाफ़ पैदा हो रहा है जिसके कारण नशामुक्त  समाज आंदोलन अभियान कौशल का “ हिंदुस्तानियों नशा छोड़ों” मुहिम में तेज़ी से सभी वर्ग के लोग जुड़ रहे हैं।

       इसी क्रम में लखनऊ के  कुशभिटा प्राइमरी स्कूल, नवीन पब्लिक स्कूल मोहनलालगंज रेनू त्रिपाठी रोशन मिश्रा उमेश चंद्र मिश्रा करुणेश चंद्र मिश्रा के साथ यहां उपस्थित सैकड़ों बच्चों ने नशामुक्ति की शपथ ली। इसी क्रम में सरोजिनी नगर के प्राथमिक स्कूल अलीनगर खुर्द आभा शुक्ला, कमलापुर निशात जहां,सरैया रविन्द्र, कलीपश्चिम प्रकाश तिवारी, खजूरी बीकेटी से निशा सिंह,मोहनलाल गंज का खरेहना से ललित शुक्ला,सीतापुर सिधौली के प्राथमिक स्कूल मनवा प्रथम अजय सिंह, प्राथमिक विद्यालय जुगराजपुर सुनील सिंह, सनियावा के पंकज शुक्ला, धखीनवा के संजय शुक्ला ने हजारों बच्चों के साथ नशा मुक्त भारत बनाने की शपथ ली।

       साथ ही कृष्णा पब्लिक इंटर कॉलेज में प्रवीण अवस्थी ,लालमणि यादव, बिलंदा फतेहपुर यूपी इंटर कॉलेज से अवधेश यादव , शिशु मंदिर इंटर कॉलेज से अवधेश वर्मा, पूर्णिया से प्रभाकर त्रिवेदी, सेंट मिराज इंटर कॉलेज हिंद नगर से अनुराग केसरी,  झांसी फतेहपुर, सुल्तानपुर , बांदा, सहित गुजरात ,हरियाणा के पानीपत एवन पब्लिक स्कूल की श्वेता सिंह, कुरुक्षेत्र में पिहोवा के एसडीएम सोनू राम सहित करोड़ों लोगों ने पूरे देश में नशा मुक्त अभियान कौशल का हिंदुस्तान नशा छोड़ो के नारे के साथ मनाया।

      जागरूकता अभियान के तहत व्यक्ति से व्यक्ति जोड़ों की कड़ी में करोड़ों लोगों की नशा मुक्त भारत बनाने की शपथ निश्चित रूप से भारत के सुनहरे भविष्य की ओर बढ़ा हुआ सार्थक कदम सिद्ध होगा।

@रीना त्रिपाठी

Previous Post Next Post