यात्रियों की सुविधा के लिए 15 हजार प्राइवेट बसों को अनुबंध करने की कार्यवाही --मंत्री दयाशंकर सिंह

 

लखनऊ (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  दयाशंकर सिंह ने दिल्ली से वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से परिवहन विभाग एवं परिवहन निगम के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने समीक्षा बैठक के दौरान परिवहन निगम के अधिकारियों से कहा कि लक्ष्य तय करके प्राइवेट बसों को परिवहन निगम के साथ अनुबंधित करें। उन्होंने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने लगभग 15 हजार बसों को अनुबंधित करने का लक्ष्य परिवहन निगम को दिया है।

 दयाशंकर सिंह ने कहा कि अधिकारी इस बात का परीक्षण कर लें कि किन रूटों पर कितने बसों को अनुबंध करने की आवश्यकता है। उसी के अनुरूप अनुबंधित किये जाने हेतु टेण्डर करें। उन्होंने कहा कि अनुबंध की शर्तें स्पष्ट वाहन स्वामियों के हित को ध्यान में रखते हुए तैयार किया जाना चाहिए। जिससे कि किसी भी वाहन मालिक को असंतोष न हो। इस कार्य को समय के भीतर पूर्ण करना है। परिवहन निगम अनुबंध की उचित शर्तें तय करें जिससे कि अधिक से अधिक लोग निगम से अनुबंध कर सकें। 

दयाशंकर ंिसंह ने कहा कि अतिरिक्त आय के लिए विज्ञापन, कोरियर सेवायें एवं लगेज इत्यादि के माध्यम से परिवहन निगम अतिरिक्त आय प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए टेण्डर किया जाए। उन्होंने कहा कि अभी भी परिवहन निगम से अनुबंधित ढ़ाबों से शिकायतें मिल रही हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश भी दिये हैं कि अनुबंधित ढ़ाबों का औचक निरीक्षण किया जाए और इस बात की जानकारी ली जाए कि वे ढ़ाबे शर्तों के अनुरूप कार्य कर रहे हैं अथवा नहीं तथा गड़बड़ी पाये जाने पर इनके खिलाफ सख्त कार्यवाही सुनिश्चित करें।

 दयाशंकर सिंह ने कहा कि प्रवर्तन टीम अभियान के तहत टैक्टर ट्राली की सख्त चेकिंग करे। किसी भी परिस्थिति में टैक्टर ट्राली का उपयोग सवारी ढ़ोने अथवा खनन कार्य हेतु नहीं होना चाहिए। ऐसा पाये जाने पर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करें। उन्होंने साथ ही प्रवर्तन टीम को निर्देश दिये कि अवैध संचालन एवं ओवर लोडिंग के खिलाफ समय-समय पर अभियान चलाकर चेकिंग करते रहें। जिससे कि अवैध संचालन एवं ओवरलोडिंग पर रोक लगाई जा सके। उन्होंने कहा कि जांच के दौरान पाया गया है कि कुछ जनपदों में ओवरलोडिंग और अवैध संचालन पर पूर्णतः रोक नहीं लगाया जा सका है।

 दयाशंकर सिंह ने कहा कि परिवहन विभाग की महत्वाकांक्षी योजना ’’एकमुश्त पेनाल्टी समाधान योजना’’ का प्रचार-प्रसार और बेहतर ढंग से करने की आवश्यकता है जिससे इस योजना का सकारात्मक परिणाम प्राप्त किया जा सके। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अपने-अपने जनपदों में इस योजना की समीक्षा करके इसे और प्रभावी बनाये जाने में सहयोग प्रदान करें।

 दयाशंकर सिंह ने अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा आयोजित प्रारम्भिक पात्रता परीक्षा के सफल आयोजन पर परिवहन निगम के अधिकारियों को धन्यवाद दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि आगामी त्यौहारों पर प्रदेश की जनता को बेहतर परिवहन सुविधायें एवं सुरक्षित यात्रा मिल सके, इस दिशा में पूरी निष्ठा एवं कर्मठता के साथ कार्य करें।

समीक्षा बैठक में मुख्यालय से चेयरमैन परिवहन निगम  राजेन्द्र तिवारी, प्रमुख सचिव परिवहन  वेंकटेश्वर लू, एमडी परिवहन निगम  संजय कुमार एवं अपर एमडी अन्नपूर्णा गर्ग उपस्थित रहे।

नोट- दीपावली के शुभ अवसर पर अपने व्यवसाय एवं संस्था के विज्ञापन/शुभकामना संदेश हेतु संपर्क करें मो0 98384 76221

Previous Post Next Post