लखनऊ: तीन पत्नियों वाले दारोगा की आई शामत

लखनऊ (मानवी मीडिया) राजधानी लखनऊ: तीन पत्नियों वाले दारोगा की आई शामत, पुलिस कमिश्नर से पहली पत्नी बोली- महिला सिपाही से पति के संबंध, रिश्ता बचा लो साहब*

*उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में तीन पत्नियों वाले दारोगा सुधांशु रंजन यादव Sub चर्चाओं में हैं। दारोगा की पहली पत्नी वाराणसी में एक बेटी के साथ रहती हैं। वहीं, दूसरी बीवी बीबीडी इलाके में एक फ्लैट में और तीसरी बीवी गोरखपुर में थी, जिसे अब वह छोड़ चुके हैं। वहीं, इस संबंध में पूछने पर दारोगा सुधांशु रंजन यादव ने सारे आरोपों को निराधार बताया और बोले कि उनकी पत्नी नहीं है।_*

पुलिस कमिश्रर के सामने फूट-फूटकर रोई पहली पत्नी

*_मिली जानकारी के अनुसार, अभी दो दिन पहले ही दारोगा की पहली पत्नी अपनी 10 साल की बच्ची के साथ कमिश्नर ऑफिस पहुंची। उन्होंने पुलिस कमिश्नर एसबी शिरडकर से मुलाकात की और सारे दस्तावेज दिखाकर फूट-फूटकर रोने लगी। उन्होंनें बताया कि वह बनारस के बड़ा गांव रसूलपुर की रहने वाली हैं। सर्विस बुक में नामिनी में मेरा ही नाम है।_

मह‍िला ने पुलिस कमिश्नर के सामने रोते हुए कहा कि साहब मेरा विवाह 14 साल पहले सुधांशु रंजन से हुआ था। उन्होंने बताया कि उस समय सुधांशु दारोगा नहीं थे। मायके वालों ने सुधांशू की मांग पर दहेज में कार और लाखों के जेवर दिए थे। सब कुछ हंसी खुशी चल रहा था। पति की लखनऊ पोस्टिंग हुई। यहां पर महिला पुलिस विंग में तैनात एक सिपाही से पति के संबंध हो गए।_

नौकरी लगने पर कर ली थी दूसरी शादी

*पहली पत्नी ने पुलिस कमिश्नर को बताया कि इसके बाद सुधांशु ने घर आना जाना कम कर दिया। सवाल पूछने पर वह टाल-मटोल करते और ऑफिस में ज्यादा काम होने का बहाना बना देते। रोते हुए पहली पत्नी ने कहा कि साहब मेरा घर टूटने से बचा लीजिए। पति ने बिना तलाक दिए ही दूसरी शादी कर ली है। बच्ची के खातिर मैं तलाक नहीं चाहती हूं। पुलिस कमिश्नर ने महिला को ढांढस बधाते हुए शांत कराया और जांच के आदेश दिए। पड़ताल में पता चला कि दारोगा सुधांशु रंजन पुलिस लाइन में तैनात हैं।_*

बीबीडी में दूसरी पत्नी के लिए 35 लाख का फ्लैट

*_पहली पत्नी ने बताया कि उनके दारोगा पति ने महिला सिपाही को पत्नी दिखाते हुए उसके नाम से बीबीडी इलाके में 35 लाख रुपये में एक फ्लैट खरीदा है, जिसकी जांच होनी चाहिए। पत्नी ने कहा कि वह इतने रुपए कहां से लाए। उन्होंने कहा कि जानकारी होने पर बीबीडी पुलिस पुलिस के साथ बीते दिनों फ्लैट पर पहुंची तो महिला सिपाही वहीं मिली, लेकिन दारोगा ने वहां से मुझे भगा दिया।_*

घूसखोरी में दारोगा हुए थे निलंबित

*जानकारी के मुताबिक, दारोगा सुधांशु रंजन करीब तीन माह पहले पारा थाने की हंसखेड़ा चौकी से निलंबित हुए थे। इंस्पेक्टर पारा दधिबल तिवारी ने बताया कि तीन माह पहले दो पक्षों के विवाद में दोनों ओर से मुकदमा दर्ज हुआ था। उसमें एक पक्ष से दूसरे के खिलाफ धाराएं हटाने को लेकर रुपये लेने का आरोप दारोगा सुधांशु रंजन पर लगा था। इस कारण तत्कालीन पुलिस कमिश्नर ने उन्हें निलंबित कर दिया था।_*

*_पत्नी की शिकायत पर जांच के आदेश_आई प्रथम पुलिस लाइन राकेश कुमार शर्मा ने बताया कि पहली पत्नी ने दारोगा सुधांशु रंजन यादव की शिकायत पुलिस कमिश्नर से की है। उन्होंने दारोगा पर 2 और पत्नियां रखने का आरोप लगाया है। वहीं, पुलिस कमिश्नर के निर्देश पर जांच की जा रही है। दारोगा सुधांशु एक सप्ताह की छुट्टी पर हैं।*

Previous Post Next Post