डब्लूएचओ की रिपोर्ट के बाद मुरादाबाद में अलर्ट जारी


मुरादाबाद (मानवी मीडिया दुनिया में पूरी तरह से पोलियो के खात्मे में सबसे बड़ा रोड़ा बने पाकिस्तान को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन की ताजा रिपोर्ट दी है। इस रिपोर्ट ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चिंता बढ़ा दी है जबकि, मुरादाबाद में इसे लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। डब्लूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में इस साल अब तक पोलियो के नए केसों की संख्या चौदह दर्ज की गई है जोकि, पिछले साल की तुलना में चौदह गुनी है। पिछले साल पाकिस्तान में पोलियो का सिर्फ एक केस ही दर्ज हुआ था।

पाकिस्तान में पोलियो केसों के इस 'विस्फोट' को मुरादाबाद के स्वास्थ्य विभाग ने बहुत गंभीरता से लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.विश्राम सिंह ने बताया कि मुरादाबाद से कई परिवारों की पाकिस्तान में आवाजाही होने के मद्देनजर यहां पोलियो के संक्रमण की दस्तक होने का खतरा बढ़ गया है। जिसके चलते अत्यधिक एहतियात बरतने पर फोकस किया गया है। 18 सितंबर से आरंभ हो रहे देशव्यापी पोलियो अभियान के तहत मुरादाबाद में शत प्रतिशत बच्चों को जिंदगी की बूंद पिलाने का लक्ष्य तय किया गया है।

एयरपोर्ट पर पोलियो टीकाकरण के बावजूद खतरा

प्रभारी जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ.मनोज चौधरी ने बताया कि भारत व पाक के एयरपोर्ट पर अब सभी यात्रियों को पोलियो खुराक अनिवार्य रूप से पिलाई जा रही है। एसीएमओ डॉ.विश्राम सिंह ने कहा कि खुराक पीते ही तत्काल वायरस के खिलाफ इम्युनिटी पैदा नहीं होने के चलते पाकिस्तान से आने वाले लोगों के जरिये पोलियो के संक्रमण का अंदेशा है।

पोलियो से मुक्ति के बाद से नहीं आया कोई केस 

वर्ष 2014 में डब्लूएचओ की तरफ से भारत को पोलियो मुक्त देश घोषित किया गया था, लेकिन, मुरादाबाद में इससे काफी पहले ही पोलियो के केस आना बंद हो गए थे। पोलियो उन्मूलन में सोशल मोबिलाइजेशन की जिम्मेदारी निभाने वाले डॉ.मो.जावेद ने कहा कि मुरादाबाद में लंबे कठिन संघर्ष के बाद पोलियो पर विजय प्राप्त की जा सकी। पाकिस्तान में केस बढ़ने के मद्देनजर इस विजय को बनाए रखने के लिए भी बहुत गंभीर होने की जरूरत है।


Previous Post Next Post