विद्यालय प्रबंध समिति अध्यक्ष एवं प्रधान अध्यापकों की संगोष्ठी कार्यशाला एवं उन्मुखीकरण कार्यशाला


लखनऊ/सरोजनी नगर (मानवी मीडिया)ब्लॉक स्तरीय /ग्राम प्रधान /स्थानीय प्राधिकरण /विद्यालय प्रबंध समिति अध्यक्ष एवं प्रधान अध्यापकों की संगोष्ठी कार्यशाला एवं उन्मुखीकरण कार्यशाला।

उन्मुखीकरण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि माननीय विधायक सरोजनी नगर राजेश्वर सिंह जी तथा विशिष्ट अतिथि ब्लॉक प्रमुख सुनील रावत जी की उपस्थिति में कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती वंदना हुआ दीप प्रज्वलन के साथ खंड शिक्षा अधिकारी सरोजनी नगर रुद्र प्रताप यादव की उपस्थिति में हुआ।

       कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए खंड शिक्षा अधिकारी रुद्र प्रताप यादव ने कार्यक्रम के उद्देश्य ,आवश्यकता तथा डीबीटी के माध्यम से सीधे सुविधा हस्तांतरण, निपुण भारत, मिशन ऑपरेशन कायाकल्प की जानकारी देते हुए ग्राम प्रधानों, जनप्रतिनिधियों एसएमसी अध्यक्षों व जन समुदाय के व्यापक सहयोग की आवश्यकता व महत्व के बारे में सभी को बताया।

    ए आर पी संध्या द्विवेदी ने डीबीटी के माध्यम से विद्यार्थियों के अभिभावकों के खाते में भेजी जा रही 1200 की धनराशि जिसमें दो सेट यूनिफॉर्म ,स्वेटर ,जूता मोजा ,स्कूल बैग स्टेशनरी का क्रय किया जाना है की उपयोगिता के बारे में तथा सही उपयोग के बारे में उपस्थित अभिभावकों व जनप्रतिनिधियों को बताया।

 एआर पी उदय प्रताप सिंह द्वारा विभिन्न परिषदीय विद्यालयों में चिन्हित उन्नीस मूलभूत  सुविधाओं के संस्कृतिकरण, क्रियाशीलता उच्चरण हेतु ऑपरेशन कायाकल्प विषय पर वीडियो के माध्यम से व्यापक जानकारी देते हुए विभिन्न ग्राम पंचायतों के विद्यालयों में ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत किए गए कार्यों का प्रस्तुतीकरण किया।

     एआर पी शुचिता त्रिपाठी द्वारा निपुण भारत मिशन के अंतर्गत विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षण हेतु निपुण लक्षो तथा उपलब्ध करवाई जा रही विभिन्न शैक्षिक सामग्री के बारे में बताया।

     ब्लाक प्रमुख सरोजनी नगर सुनील रावत ने विद्यालयों में सकारात्मक स्थिति की चर्चा करते हुए सभी प्रधानाध्यापकों की प्रशंसा की तथा विद्यालयों में कायाकल्प के माध्यम से किए गए कार्यों की सराहना की। जिन विद्यालयों में कार्य नहीं किए गए हैं वहां के प्रधानों से आग्रह किया कि शीघ्र ही कायाकल्प के मापदंडों के तहत विद्यालय में काम कराया जाए ताकि बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने में सुविधा हो।

      मुख्य अतिथि एवं क्षेत्रीय विधायक राजेश्वर सिंह ने उत्तर प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा संचालित हो रही विभिन्न शैक्षणिक योजनाएं, डीबीटी के माध्यम से आवंटित धनराशि के सत प्रतिशत प्रेषण व उसके समग्र उपयोग, नई शिक्षा नीति तथा निपुण भारत मिशन के बारे में बताया। ऑपरेशन कायाकल्प के माध्यम से परिषदीय विद्यालयों को शैक्षिक अधिगम का उत्कृष्ट संस्थान बनाए जाने के प्रति सभी के सक्रिय प्रयासों की सराहना की तथा जिन विद्यालयों में अवसंरचना निर्माण की सामग्रियां उपलब्ध नहीं हैं उन्हें विभिन्न माध्यमों, व  ग्राम प्रधानों के द्वारा से शीघ्र पूरा किए जाने का आश्वासन दिया।

बेसिक शिक्षा अधिकारी लखनऊ का प्रतिनिधित्व करते हुए मुख्यालय प्रभारी खंड शिक्षा अधिकारी राजेश सिंह ने बताया कि सरकार की योजनाओं का पूर्ण रूप से क्रियान्वयन कराने हेतु जिले के सभी खंड शिक्षा अधिकारी प्रधानाध्यापक व सहायक अध्यापक पूरे मनोयोग से लगे हुए हैं और शीघ्र ही सभी पैरामीटर्स को पूर्ण हो जाएंगे। उन्होने कहा कि ब्लॉक ही नहीं प्रदेश में सभी अभिभावकों से आग्रह किया कि वह बेटियों की शिक्षा में पूरी तरह ध्यान दें उन्हें घर के कामों में नव जाकर प्रतिदिन विद्यालय भेजें तथा उन्हें आज के समय के अनुसार डिजिटल शिक्षा अवश्य प्रदान करें। 

      कार्यक्रम में शिक्षक प्रतिनिधि के तौर पर शिक्षकों की बात रखते हुए सर्वजन हिताय संरक्षण समिति महिला प्रकोष्ठ उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष रीना त्रिपाठी ने बताया कि शिक्षकों और जनप्रतिनिधियों के सहयोग से तथा प्रधानाध्यापक की सकारात्मक मंशा से ही पूरे ब्लॉक को जल्द ही निपुण ब्लॉक बनाते हुए लखनऊ को निपुण जिला बनाने में सभी का साथ और सहयोग इसी तरह मिलता रहा तो शीघ्र ही संभव हो सकेगा।

सरकार द्वारा बहुत बड़ी मात्रा में कायाकल्प के माध्यम से विद्यालयों में स्वच्छ और स्वस्थ वातावरण बनाने हेतु धनराशि दी जा रही है यदि इसका सही उपयोग किया जाए तो निश्चित रूप से वह दिन दूर नहीं जब सरकारी विद्यालयों में सुविधाएं और गुणवत्ता के मामले में उच्च कोटि दृष्टिगत होगी। 

    कार्यक्रम में एडीओ पंचायत कौशल किशोर , सीडीओ सरोजनी नगर तथा विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित हुए।

    कार्यक्रम का संचालन प्रकाश चंद तिवारी तथा कंचन पाठक द्वारा कुशलता पूर्वक किया गया ।

          कार्यक्रम के माध्यम से सरकारी योजनाओं का क्रियान्वयन प्रधान अध्यापक व प्रधानों द्वारा सुचारू रूप से होता रहे यह संदेश  दिया गया।

     *रीना त्रिपाठी

Previous Post Next Post