सुप्रीम कोर्ट ने चीफ जस्टिस के बेटे की नियुक्ति पर रोक लगायी



लखनऊ (मानवी मीडिया)🛑सुप्रीम कोर्ट यानि SC ने भारत के चीफ जस्टिस यूयू ललित के बेटे श्रीयश, यथार्थ कांत और नामित सक्सेना की नियुक्ति कैंसिल कर दी है। इन तीनों की नियुक्ति उतर प्रदेश सरकार के अधिवक्ता के रूप में हुई थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है। यह जानकारी उत्तर प्रदेश सरकार के विशेष सचिव निकुंज मित्तल की ओर से जारी पत्र में दी गई है। पत्र में लिखा है, ''राज्यपाल ने अगले आदेश तक इनकी नियुक्ति को स्थगित कर दिया है।''

🔴दरअसल, 24 सिंतबर को योगी सरकार ने भारत के चीफ जस्टिस यूयू ललित के बेटे श्रीयश यू ललित को सुप्रीम कोर्ट में राज्य सरकार का पक्ष रखने के लिए वरिष्ठ अधिवक्ताओं के पैनल में नियुक्त किया था। इस बाबत यूपी प्रशासन की तरफ था।

*श्रीयश की नियुक्ति पर उठ रहा था सवाल*

🟤श्रीयश यू ललित जस्टिस यूयू ललित के बेटे हैं। एनवी रमण की रिटायरमेंट के बाद जस्टिस यूयू ललित ने सुप्रीम कोर्ट के 49वें चीफ जस्टिस का पद संभाला है। चीफ जस्टिस के बेटे को यूपी सरकार के पैनल में शामिल करने पर सोशल मीडिया पर यूजर्स ने खूब सवाल उठाया था। हालांकि अब यूपी सरकार ने अपने इस फैसले पर रोक लगा दिया है।

*श्रीयश यू ललित चार पीढ़ियां वकालत से जुड़ी हुई है*

⚫महाराष्ट्र के सोलापुर में जन्मे जस्टिस यूयू ललित की चार पीढ़ियां वकालत से जुड़ी हुई है। जस्टिस यूयू ललित के दादा रंगनाथ ललित सोलापुर में आजादी से पहले वकालत किया करते थे। जस्टिस यूयू ललित के पिता उमेश रंगनाथ ललित भी वकील रह चुके हैं, जो बाद में हाई कोर्ट के जज भी बने।

🔵जस्टिस यूयू ललित को बार से सीधा सुप्रीम कोर्ट जस्टिस के तौर पर नियुक्त किया गया है। वहीं, उनके बेटे श्रीयश यू ललित भी वकील हैं, जिन्हें यूपी सरकार ने राज्य सरकार का पक्ष रखने के लिए वरिष्ठ अधिवक्ताओं के पैनल में नियुक्त किया था।

Previous Post Next Post