चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी कांड का अपडेट ; चौथे आरोपी की एंट्री, छात्राओं को धमकियां और कनाडा लिंक...


चंडीगढ़: (
मानवी मीडियाचंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में छात्राओं के आपत्तिजनक विडियो वायरल होने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। जैसे-जैसे पुलिस मामले की जांच कर रही है इसकी पर्त दर पर्त खुलती जा रही हैं। वहीं यूनिवर्सिटी प्रशासन का झूठ भी सामने आ रहा है। इस मामले में जहां पहले छात्राओं के एमएमएस बनाने वाली आरोपी छात्रा का नाम था, वहीं उसके बॉयफ्रेंड सनी और उसके साथी रंकज को गिरफ्तार किया गया। अब एक चौथे शख्स का नाम भी सामने आया है। इतना ही नहीं मामले में मुंबई, गुजरात से लेकर कनाडा तक का लिंक निकल रहा है। कुछ छात्राओं का आरोप है कि उनके मोबाइल पर अंजान नंबर से कॉल आई और कॉल करने वाले ने उन्हें धमकी दी।


यूनवर्सिटी की कुछ पीड़ित छात्राओं का आरोप है कि उन्हें +1 (204) 8199002 नंबर से धकमी भरा कॉल आया। छात्राओं ने यह नंबर पुलिस को सौंप दिया है। धमकी देने वाले ने छात्राओं को कहा कि 'मेरे दोस्त को जेल से निकवाओ नहीं तो तुम्हारा वीडियो भी वायरल कर देंगे।' पता चला है कि यह नंबर कनाडा है। इस कॉल के आने के बाद छात्राओं को अलग-अलग नंबरों से वॉट्सऐप कॉल आने शुरू हो गए हैं। उन्हें लगातार धमकियां मिल रही हैं।

पुलिस नंबरों की जांच में जुटी
छात्राओं को वॉट्सऐप मेसेज भी भेजे जा रहे हैं। पुलिस ने सारे नंबरों को लेकर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने कहा कि मामला गंभीर भी हो सकता है या फिर किसी की शरारत हो सकती है। बताया जा रहा है कि तीनों आरोपियों को आमने-सामने बैठाकर बात की गई। इस दौरान एक किसी और शख्स का नाम सामने आया है। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर दी है।

मोहित नाम के लड़के की तलाश
दरअसल पुलिस ने छात्रा के वॉट्सऐप चैट की जांच की तो उसमें किसी मोहित नाम के लड़के से उसकी चौट मिली है। उसमें छात्रा ने लिखा है, 'ज मरवा ही दिया था, मुझे नहाती हुई छात्रा की तस्वीर लेते हुए एक छात्रा ने देख लिया।' अब पुलिस इस आरोपी लड़के मोहित की तलाश में जुट गई है। सूत्रों ने बताया कि छात्रा ने बयान में कहा है कि मोहित उसे ब्लैकमेल करके दूसरी छात्राओं के वीडियो और तस्वीरें मंगवा रहा था।

हालांकि मोहित कौन है? कहां है? इसकी कुछ जानकारी नहीं है। यह भी माना जा रहा है कि यह कोई फेक अकाउंट हो। छात्रा ने बयान में पुलिस को बताया है कि उसे आरोपी युवक ब्लैकमेल कर रहे थे और दूसरी छात्राओं के वीडियो बनाकर भेजने के लिए मजबूर कर रहे थे।
Previous Post Next Post