आजमगढ़ हरिहरपुर गांव में घटित हत्या की घटना का अनावरण

आजमगढ़ (मानवी मीडिया) आजमगढ़ थाना कंधरापुर अंतर्गत हरिहरपुर गांव में घटित हत्या की घटना का अनावरण, मुख्य अभियुक्त गोल्डी यादव व साथी काजू शर्मा गिरफ्तार, मुख्य अभियुक्त गोल्डी उर्फ सुशील यादव पुलिस मुठभेड़ में घायल हुआ। घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल व अवैध शस्त्र बरामद हुआ। दिनांक – 20.09.2022 को थाना कन्धरापुर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम हरिहरपुर में हत्या की घटित घटना के सम्बन्ध में थाना कन्धरापुर पर मु0अ0सं0-230/2022 धारा 302/323/504/506 /34 भादवि व 7 सीएलए एक्ट विरूद्ध 1-सुशील यादव उर्फ गोल्डी, 2-मोनू यादव व 02 अन्य अभियुक्तों के विरूद्ध पंजीकृत किया गया था। जिसमें दिनांक 21.09.2022 को नामजद अभियुक्त मोनू यादव को पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार किया गया था। आज दिनांक – 23.09.2022 को रात्रि लगभग 09.00 बजे नामजद मुख्य अभियुक्त सुशील यादव उर्फ गोल्डी तथा सह अभियुक्त काजू शर्मा उर्फ मनीष शर्मा पुत्र सुभाष शर्मा निवासीगण हरीहरपुर थाना कन्धरापुर जनपद आजमगढ़ को दूधनारा तिराहा के पास से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के दौरान अभियुक्त गोल्डी ने बताया कि अभियुक्त व मृतक एक दुसरे से परिचित व एक- दुसरे के यहां आना- जाना था। लगभग 06 माह पूर्व इसके बड़े भाई सोनू यादव के साथ ह्रदय मिश्रा, आदर्श मिश्रा व अन्य की किसी बात को लेकर कहासुनी व मारपीट हुयी थी। इसके बाद घटना के एक दिन पूर्व 19 सितम्बर को पुनः लच्छीरामपुर में अभियुक्त व उसके साथियों की कहासुनी आदर्श मिश्रा व साथियों के साथ हुयी थी। जिसका बदला लेने के लिए अभियुक्त द्वारा घटना कारित करना बताया गया है।

घटना करने के लिए अभियुक्त काजू शर्मा की स्पलेन्डर मोटरसाइकिल से घटना स्थल पर गया था। बाइक काजू शर्मा चला रहा था, अभियुक्त पीछे बैठा हुआ था जिस बाइक से घटना करने गये थे वह बाइक पुलिस द्वारा बरामद कर ली गयी है। घटना में प्रयुक्त शस्त्र के सम्बन्ध में पूछताछ पर मुख्य अभियुक्त सुशील यादव उर्फ गोल्डी ने बताया कि घटना में प्रयुक्त असलहा मैंने छिपा दिया है, चलकर दिखा सकता हूँ इस पर अभियुक्त सुशील यादव उर्फ गोल्डी को साथ लेकर करेन्हवा मठ के पास लगभग रात्रि 11 बजे पहुँचें जहां अभियुक्त आगे चलकर झाड़ियों में इधर उधर ढूंढता रहा व अचानक हाथ पकड़े हुये पुलिस आरक्षी को धक्का दे दिया तथा पुलिस वालों को लक्ष्य बनाकर फायर करने लगा। पुलिस बल द्वारा पर्याप्त चेतावनी के बाद आत्मरक्षार्थ नियंत्रित फायरिंग की गयी जिसमें मुख्य अभियुक्त सुशील यादव उर्फ गोल्डी के बायें पैर में गोली लगी है। उपचार के लिए जिला अस्पताल आजमगढ़ भेजा गया है। इसके पास से घटना में प्रयुक्त 01 अवैध असलहा 315 बोर, 01 जिन्दा कारतूस व 02 अदद खोखा 315 बोर बरामद हुआ है। घटना के सम्बन्ध में विस्तृत पूछताछ की जा रही है । अभियुक्तों के विरूद्ध गैगेस्टर एक्ट एवं धारा 14(1) गैगेस्टर एक्ट के तहत सम्पत्ति जब्तीकरण की कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।



Previous Post Next Post