सभी उपकेन्द्रों पर 12 से 19 सितम्बर, सुबह 08ः00 बजे से रात्रि 08ः00 बजे तक ’समाधान सप्ताह’ आयोजित

लखनऊः (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री  ए0के0 शर्मा ने उपभोक्ताओं को स्थानीय स्तर पर ही सहूलियत प्रदान करने एवं समस्याओं के समाधान के लिए प्रदेश स्तर पर सभी 33/11 के0वी0 उपकेन्द्रों या निकटतम बिलिंग केन्द्र पर 12 से 19 सितम्बर, 2022 तक ’समाधान सप्ताह’ आयोजित करने का निर्देश दिये हैं। उन्होंने समाधान सप्ताह को प्रतिदिन सुबह 08ः00 बजे से रात्रि 08ः00 बजे तक आयोजित करने तथा उपकेन्द्र के अधीन आने वाले सभी गॉव/क्लस्टर के उपभोक्ताओं की समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिये।

ऊर्जा मंत्री  ए0के0 शर्मा आज शक्तिभवन में विद्युुत विभाग के कार्यांे की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी उपकेन्द्रों पर उपभोक्ताओं की शिकायतों का मौके पर ही समाधान करना है। इसमें उपभोक्ताओं की बिलिंग, लोड बढ़ाना, कनेक्शन, मीटर लगाना, ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्तता, जर्जर पोल व लाइन, ट्रांसफार्मर फीडर का लोड बढ़ाने तथा लो-बोल्टेज जैसी समस्याओं का समाधान किया जाये। उन्होंने मुख्यालय के सभी अधिकारियों, डिस्कॉम स्तर के सभी अधिकारियों, जिला एवं सर्किल स्तर के सभी अधिकारियों को समाधान सप्ताह के दौरान फील्ड में जाने तथा कैम्प का निरीक्षण करने के निर्देश दिये।

ऊर्जा मंत्री ने कहा मानसून की कमी के चलते किसानों की फसलों को नुकसान से बचाने के लिए उनके निजी नलकूप का डिस्कनेक्शन न किया जाए तथा बिल वसूली के लिए परेशान न किया जाए। कहा कि किसानों के निजी नलकूप कनेक्शन में सभी डिस्कॉम स्तर पर और तेजी लाई जाए। उन्होंने जिन क्षेत्रों में लाइनलॉस 20 प्रतिशत से ज्यादा है, वहां रैडम चेकिंग करने और बड़ी चोरियों को रोकने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में लोड ज्यादा है और उपभोग ज्यादा हो रहा है। ऐसे क्षेत्रांे की प्रतिदिन मॉनीटरिंग की जाए। खासतौर से ऐसे स्थानों जहां पर ट्रांसफार्मर के जलने की ज्यादा शिकायतें आ रही हैं, वहॉ पर विद्युत चोरी की आशंका पर निरीक्षण किया जाए।

 ए0के0 शर्मा ने नोएडा और मेरठ की भांति सभी डिस्कॉम में मोबाइल यूनिट संचालित करने के भी निर्देश दिये। जिससे कि ट्रिपिंग के दौरान बिजली आपूर्ति को बहाल करने में तत्काल समाधान किया जा सके। साथ ही प्रिबेन्टिव मेन्टीनेंस भी समय रहते किया जा सके। उन्होंने कहा कि बिजली व्यवस्था को ठीक से मानीटर किया जा सके इसके लिए सभी उपभोक्ताओं के मोबाइल नम्बर भी प्राप्त किये जाये। उन्होंने उपभोक्ताओं को सही रीडिंग पर ही बिल देने को कहा और उसी के आधार पर बिल वसूली की जाए। 

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि ट्रांसफार्मर को जलने से बचाने के लिए समय से इसका मेन्टीनेन्स किया जाए तथा सैन्सन लोड के अनुसार ही ट्रांसफार्मर लगाये जाए। साथ ही इनपुट आउटपुट गैप पर भी ध्यान दिया जाए। उन्होंने राजस्व वसूली पर विशेष ध्यान देने तथा इसमें किसी भी स्तर पर ढ़िलाई न देने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि बिजली विभाग को जनता का पूर्ण विश्वास हासिल करने के लिए सुचारू व्यवस्था बनानी होगी। 

बैठक में मुख्य सचिव ऊर्जा  महेश कुमार गुप्ता ने निर्देश दिये हैं कि आगामी सोमवार से समस्या समाधान सप्ताह मनाया जायेगा। इस दौरान सभी उच्चाधिकारी उपकेन्द्रों का निरीक्षण करेंगे। साथ ही नीचे से लेकर उच्च स्तर के सभी अधिकारी अपनी कार्य संस्कृति में बदलाव लाकर प्रदेश सरकार की मंशानुरूप जनहित में कार्य करें। उपभोक्ताओं के मोबाइल नम्बर पर बिजली की आपूर्ति के संबंध में मैसेज भेजे तथा सभी उपभोक्ताओं से समय से बिल प्राप्त करने का भी प्रयास करें। बैठक में चेयरमैन पावर कॉरपोरेशन  एम देवराज, सभी डिस्काम के प्रबंध निदेशक उपस्थित थे।

Previous Post Next Post