यूपी ओलंपिक एसोसिएशन के महासचिव आनंदेश्वर पांडेय पर बलात्कार का मुकदमा दर्ज

लखनऊ (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन के महासचिव आनंदेश्वर पांडेय पर बलात्कार का मुकदमा दर्ज किया गया है. आनंदेश्वर पांडेय के खिलाफ दुष्कर्म व धमकाने का केस एक हैंडबाल खिलाड़ी की शिकायत पर दर्ज किया गया है. बरेली निवासी SSB में तैनात महिला सिपाही जो इन दिनों राजस्थान में तैनात है, उसका आरोप है कि केडी सिंह बाबू स्टेडियम में आयोजित हैंडबॉल के एक प्रशिक्षण शिविर के दौरान आनंद ईश्वर पांडे ने उसके साथ में बदसलूकी की थी. राजस्थान के भिवाड़ी महिला थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है. विशेष प्रशिक्षण शिविर के दौरान दुष्कर्म के प्रयास का आरोप लगाया है. केडी सिंह बाबू स्टेडियम में दुष्कर्म के प्रयास का आरोप लगा है. विरोध पर कैरियर खराब करने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है. वारदात स्थल लखनऊ होने के कारण मुकदमा स्थानांतरित कर लखनऊ के हजरतगंज थाने में भेजा जाएगा.

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले आनंदेश्वर पांडे की अश्लील तस्वीरें भी वायरल हुई थीं. कुछ युवतियों के साथ आपत्तिजनक स्थिति में दिखाई दे रहे आनंदेश्वर पांडे ने इन तस्वीरों को फेंक बताया था. उन्होंने कहा था कि वह साइबर क्राइम शाखा में इसकी शिकायत भी कर रहे हैं, लेकिन राजस्थान में एसएसबी की महिला जवान के दर्ज कराए गए मुकदमे के बाद उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन के महासचिव और भारतीय ओलंपिक संघ के कोषाध्यक्ष आनंदेश्वर पांडे अब और बड़ी मुश्किल में घिरते हुए नजर आ रहे हैं.

इस प्रकरण को लेकर उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन के महासचिव आनंदेश्वर पांडेय का कहना है कि बरेली की निवासी एसएसबी की महिला हैंडबॉल खिलाड़ी द्वारा अपने खिलाफ दुष्कर्म व धमकाने का केस दर्ज कराने के मामले में आप सभी को अवगत कराना चाहता हूं कि यह आरोप झूठे हैं. मुझे आपको ये बताना है कि इस लड़की के खिलाफ एसएसबी में कार्रवाई चल रही है और दो वर्ष पूर्व यह एसएसबी की हैंडबॉल टीम से निकाली जा चुकी है. मैने इसके द्वारा बार-बार संपर्क करने की कोशिश करने के बावजूद कभी इसको रिस्पांस नहीं दिया. इस आरोप के बारे में मुझे ये कहना है कि ये सरासर झूठ हैं और मैं इसके खिलाफ मानहानि की कार्रवाई करूंगा और मैं इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग करता हूं ।

Previous Post Next Post