कोर्ट से सजा के आदेश की फाइल लेकर भागे मंत्री राकेश सचान,


कानपुर (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश का कानपुर में बड़ा मामला सामने आया है। यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार के कैबिनेट मंत्रि राकेश सचान कोर्ट से अपनी सजा की फाइल लेकर फरार हो गये हैं। क्योंकि अवैध हथियार के एक पुराने मामले में शनिवार को दोषी करार दिया गया। जानकारी के मुताबिक उन्हें सजा सुनाई जानी थी लेकिन इससे पहले वह वकील की मदद से सजा के आदेश की मूल प्रति लेकर फरार हो गए। अब पुलिस ने इस मामले में उनके खिलाफ एक और रिपोर्ट दर्ज की है। इस मामले में सचान का कहना है कि सभी तरह के आरोप निराधार हैं। तबीयत खराब होने के कारण वकील के जरिए कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कैबिनेट मंत्री राकेश सचान पर अपनी सजा की फाइल लेकर कोर्ट से भागने का गंभीर आरोप लगा है। असल में कोर्ट ने शनिवार को सचान को एक मामले में दोषी करार दिया था। लेकिन कोर्ट इससे पहले उन्हें सजा सुनाती वह अपने वकील की मदद से सजा के आदेश की मूल प्रति लेकर फरार हो गए। बताया जा रहा है कि वह बिना बेल बॉन्ड भरे ही कोर्ट रूम से फरार हो गए और इसके बाद कोर्ट ने मंत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए कहा और पेशकार ने कोर्ट के आदेश के बाद कोतवाली में मंत्री के खिलाफ तहरीर दी है।

अवैध हथियार रखने का है मामला

बताया जा रहा है कि ये मामला 1991 का है और तब सचान समाजवादी पार्टी में हुआ करते थे और पुलिस ने उनके पास से एक अवैध हथियार बरामद किया था। पुलिस ने सचान के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। इस मामले की शनिवार को अपर मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट-3 कानपुर की अदालत में सुनवाई चल रही थी और उन्हें दोषी करार दिया गया था।

सजा के आदेश की फाइल लेकर गायब हुए मंत्री

जानकारी के मुताबिक सुनवाई पूरी होने के बाद कोर्ट राकेश सचान को दोषी साबित कर सजाका ऐलान करने की तैयारी कर रहा था। इससे पहले बचाव पक्ष को सजा पर बहस शुरू करने को कहा गया था। लेकिन जब सजा सुनाने का समय आया तो राकेश सचान सजा के आदेश की फाइल लेकर कोर्ट से गायब हो गए और इसके बाद पूरे कोर्ट और पुलिस-प्रशासन में हड़कंप मच गया। वहीं सचान के वकील का कहना है कि राकेश सचान को बीमारी के चलते वहां से ले जाया गया है।

Previous Post Next Post