मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई का छापा दिल्ली- समेत 21 ठिकानों पर

नई दिल्ली (मानवी मीडिया): दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर सीबीआई ने छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि सीबीआई ने एक साथ करीब 21 जगहों पर छापेमारी की है। माना जा रहा है कि सीबीआई की ये कार्रवाई दिल्ली सरकार की एक्साइज पॉलिसी को लेकर है। दरअसल, पिछले दिनों दिल्ली के उपराज्यपाल विनय सक्सेना ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। एलजी वीके सक्सेना ने मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद यह कदम उठाया था। इस रिपोर्ट में मनीष सिसोदिया की भूमिका पर भी सवाल उठाए गए हैं। दरअसल, दिल्ली का एक्साइज विभाग मनीष सिसोदिया के अधीन है।

मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर सीबीआई के छापेमारी की जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा, सीबीआई आई है। उनका स्वागत है। हम कट्टर ईमानदार हैं। लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं। बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है उसे इसी तरह परेशान किया जाता है। इसीलिए हमारा देश अभी तक नम्बर-1 नहीं बन पाया।

सिसोदिया ने कहा, जांच में पूरा सहयोग देंगे ताकि सच जल्द सामने आ सके. अभी तक मुझ पर कई केस किए लेकिन कुछ नहीं निकला. इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा. देश में अच्छी शिक्षा के लिए मेरा काम रोका नहीं जा सकता।

उन्होंने कहा, ‘ये लोग दिल्ली की शिक्षा और स्वास्थ्य के शानदार काम से परेशान हैं। इसीलिए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और शिक्षा मंत्री को पकड़ा है ताकि शिक्षा स्वास्थ्य के अच्छे काम रोके जा सकें। हम दोनों के ऊपर झूंठे आरोप हैं। कोर्ट में सच सामने आ जाएगा।’ दरअसल, ईडी ने पिछले दिनों मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार किया था।

नई एक्साइज ड्यूटी में गड़बड़ी के आरोप हैं। इसके जरिए शराब लाइसेंसधारियों को अनुचित लाभ पहुंचाने का भी आरोप है। लाइसेंस देने में नियमों की अनदेखी की गई। टेंडर के बाद शराब ठेकेदारों के 144 करोड़ रुपए माफ किए गए। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस नीति के जरिए कोरोना के बहाने लाइसेंस की फीस माफी की गई। रिश्वत के बदले शराब कारोबारियों को लाभ पहुंचाया गया। आरोप है कि नई आबकारी नीति के तहत उठाए गए कदमों से राजस्व को भारी नुकसान पहुंचा है और यह नई नीति शराब कारोबारियों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से लाई गई।

अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, CBI का स्वागत है। पूरा सहयोग करेंगे। पहले भी कई जांच-रेड हुईं। कुछ नहीं निकला। अब भी कुछ नहीं निकलेगा। जिस दिन अमेरिका के सबसे बड़े अखबार NYT के फ्रंट पेज पर दिल्ली शिक्षा मॉडल की तारीफ और मनीष सिसोदिया की तस्वीर छपी, उसी दिन मनीष के घर केंद्र ने सीबीआई भेजी।

Previous Post Next Post